संभलकर! कहीं मेट्रो में आपका भी ना कट जाए चालान? नहीं करें ये दो गलतियां

दिल्ली मेट्रो में उन यात्रियों के चालान किए जा रहे हैं जो सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं.

दिल्ली मेट्रो में उन यात्रियों के चालान किए जा रहे हैं जो सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं.

Covid 19: तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर अब दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) ने भी सख्त रुख अपनाना शुरू कर दिया है. यात्रियों के कोविड-19 (Covid-19) के चालान काटने में भी पीछे नहीं हट रही है. कल सफर करने वाले उन यात्रियों के खूब चालान (Challan) काटे जो ट्रेन कोच में कोविड-19 नियमों का अनुपालन नहीं कर रहे थे. अधिकारियों के मुताबिक कल बृहस्पतिवार यानी 1 अप्रैल को 529 यात्रियों के कोविड-19 के चालान काटे गए. सितंबर, 2020 से 1 अप्रैल, 2021 तक मेट्रो 22,721 यात्रियों के चालान काट चुकी है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर अब दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) ने भी सख्त रुख अपनाना शुरू कर दिया है. दिल्ली मेट्रो प्रशासन अब अपने यात्रियों के कोविड-19 (Covid-19) के चालान काटने में भी पीछे नहीं हट रही है.

मेट्रो प्रशासन ने कल सफर करने वाले उन यात्रियों के खूब चालान (Challan) काटे जो ट्रेन कोच में कोविड-19 नियमों का अनुपालन नहीं कर रहे थे.

दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों के मुताबिक कल बृहस्पतिवार यानी 1 अप्रैल को 529 यात्रियों के कोविड-19 के चालान काटे गए. यह चालान उन सभी यात्रियों के किए गए जिन्होंने सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहना हुआ था और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे थे. मेट्रो ने साफ और स्पष्ट किया है कि कोविड-19 को लेकर जारी किए गए दिशानिर्देशों का अनुपालन करना अनिवार्य है.

दिल्ली मेट्रो अधिकारियों के मुताबिक मेट्रो कोच में कोविड-19 नियमों का पालन नहीं करने वालों पर शिकंजा कसने के लिए दिल्ली मेट्रो फ्लाइंग स्क्वायड उतारे गए हैं. यह सभी फ्लाइंग स्क्वायड मेट्रो कोच में जाकर उन यात्रियों पर कार्रवाई कर रहे हैं जो नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं.
Delhi Metro Flying Squads penalised commuters for not wearing a face mask properly दिल्ली मेट्रो में उन यात्रियों के चालान किए जा रहे हैं जो सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं.
दिल्ली मेट्रो में उन यात्रियों के चालान किए जा रहे हैं जो सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं.


साथ ही यात्रियों को प्रोटोकॉल का अनुपालन करने और उनको विनम्र तरीके से समझाने का काम भी स्क्वायड की ओर से किया जा रहा है. यात्रियों को यह भी बताया जा रहा है कि कोविड अभी खत्म नहीं हुआ है. अपनी और दूसरों की सुरक्षा के लिए मास्क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ यात्रा करें.

सितंबर, 2020 से की जा रही है नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई 



बताते चलें कि दिल्ली में अब 1 दिन में 2700 से ज्यादा मामले आने शुरू हो गए हैं. वहीं मौतों का आंकड़ा भी बढ़ने लगा है. संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के दौरान यह बात भी सामने आई थी कि दिल्ली मेट्रो कोरोना का बड़ा 'स्प्रेडर' बन रहा है. इसके बाद से मेट्रो ने यात्रियों को मास्क पहनने के लिये और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती के साथ पालन कराने का अभियान शुरू किया हुआ है. हालांकि मेट्रो सितंबर 2020 से ही कोविड-19 नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करती रही है और चालान काटती रही है.

Delhi Metro Flying Squads penalised commuters for not wearing a face mask properly दिल्ली मेट्रो में उन यात्रियों के चालान किए जा रहे हैं जो सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं.
दिल्ली मेट्रो में उन यात्रियों के चालान किए जा रहे हैं जो सही तरीके से फेस मास्क नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे हैं.


दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों का कहना है कि डीएमआरसी का कोरोना महामारी के दौरान यात्रियों को सुरक्षित रखना और सेफ यात्रा उपलब्ध कराना है. चालान काटना उसका उद्देश्य नहीं है. इसलिए डीएमआरसी लगातार यात्रियों के लिए जागरूकता अभियान और काउंसलिंग व गाइडेंस आदि देती रहती है ताकि मेट्रो यात्री अपनी यात्रा समुचित तरीके से सोशल डिस्टेंसिंग और नियमों के अनुपालन के साथ कर सकें.

अब तक 22,721 यात्रियों के कट चुके हैं चालान 

मेट्रो अधिकारियों के मुताबिक डीएमआरसी ऑपरेशन एंड मेंटिनेस एक्ट के तहत उन यात्रियों के ₹200 के चालान काट रही है जोकि मेट्रो परिसर में बाधा पहुंचाने और मास्क आदि नहीं लगा रहे हैं. मेट्रो की ओर से सितंबर 2020 में 5180, अक्टूबर में 5645, नवंबर में 3174, दिसंबर में 2257 यात्रियों के मास्क नहीं पहनने आदि के लिए चालान किए हैं.

वहीं, इस साल जनवरी 2021 में 3131, फरवरी में 2805 और मार्च माह में करीब 1000 से ज्यादा लोगों पर ₹200 का जुर्माना लगाया है. अब अप्रैल माह के शुरू होने के साथ ही नियमों का पालन नहीं करने वाले 529 यात्रियों पर भी जुर्माना किया है. यानी मेट्रो 1 अप्रैल तक 22,721 यात्रियों के चालान काट चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज