लाइव टीवी

नोएडा में पुलिस से झड़प के बाद करीब 200 किसानों के खिलाफ दर्ज हुआ मामला
Delhi-Ncr News in Hindi

भाषा
Updated: February 28, 2020, 1:27 PM IST
नोएडा में पुलिस से झड़प के बाद करीब 200 किसानों के खिलाफ दर्ज हुआ मामला
नोएडा पुलिस ने किसानों के खिलाफ दर्ज किया मामला (फाइल फोटो)

नोएडा के सेक्टर 6 स्थित प्राधिकरण कार्यालय पर धरने के दौरान पुलिस एवं किसानों (Farmer) के बीच हुई झड़प के मामले में थाना सेक्टर 20 में करीब 200 किसानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. इस झड़प में आधा दर्जन पुलिसकर्मी और कई किसान घायल हो गए थे.

  • Share this:
दिल्ली एनसीआर. अपनी विभिन्न मांगों को लेकर नोएडा (Noida) के किसान पिछले 19 दिनों से नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) के सेक्टर 6 स्थित कार्यालय पर धरना दे रहे हैं. बृहस्पतिवार शाम को प्रदर्शन के दौरान धरने में शामिल कुछ महिलाओं एवं किसानों ने प्राधिकरण के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पुलिस द्वारा लगाए गए बैरीकेड तोड़ दिए तथा प्राधिकरण कार्यालय की तरफ बढ़ने लगे. वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने जब किसानों को रोकना चाहा तो दोनों पक्षों में धक्का-मुक्की हो गई. इस धक्का-मुक्की में प्रदर्शन में शामिल कई महिलाओं को चोटें आईं हैं, जबकि कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हैं.

उग्र प्रदर्शन में कई पुलिसकर्मी हुए थे घायल
किसानों के उग्र प्रदर्शन में महिला थाने की प्रभारी निरीक्षक रश्मि चौधरी, कॉन्स्टेबल सुनीता, कॉन्स्टेबल संघमित्रा तथा थाना सेक्टर 20 में तैनात दरोगा अनूप दीक्षित सहित आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को चोटें आईं हैं. उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

करीब 200 किसानों के खिलाफ दर्ज किया मामला



पुलिस उपायुक्त संकल्प शर्मा ने बताया कि इस मामले में थाना सेक्टर 20 के प्रभारी निरीक्षक राजवीर सिंह ने थाना सेक्टर 20 में सुखबीर खलीफा, उदल यादव, राजू यादव, सुबोध यादव, सतबीर, राजेंद्र यादव, पिंटू, सोनू, संतराम, महेंद्र वकील, सुधीर कुमार, सुरेंद्र प्रधान, प्रेम सिंह चौहान, हरि सिंह सहित 200 किसानों के खिलाफ मारपीट करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने तथा लोक शांति भंग करने की धारा के तहत मुकदमा दर्ज कराया है.

शांतिपूर्वक धरने की अपील
किसान नेता सुखबीर खलीफा का कहना है कि किसान इस धरना प्रदर्शन को शांतिपूर्वक करना चाहते हैं. नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी किसानों की समस्याओं को हल नहीं कर रहे हैं जिसकी वजह से किसान भूखे-प्यासे धरने पर बैठे हैं. उनका कहना है कि किसानों का पुलिस से कोई विवाद नहीं है. उन्होंने किसानों से भी अपील की है कि वे शांति पूर्वक अपना धरना प्रदर्शन करें.

खलीफा ने बताया कि शुक्रवार को इस मामले में वार्ता होनी तय हुई है, अगर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी किसानों की बातों को मान लेते हैं तो धरना समाप्त कर दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें -
कोरोना वायरस को लेकर सऊदी अरब में उमरा पर रोक, लखनऊ एयरपोर्ट से लौटाए गए 128 यात्री
रामलला के साथ उनके पुजारियों के दिन भी बहुरेंगे, 29 फरवरी को ट्रस्ट की बैठक में होगा तय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 1:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर