COVID-19: कोरोना पॉजिटिव के इलाज में लापरवाही पर अस्पताल के खिलाफ केस, OPD बंद करने का आदेश
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19: कोरोना पॉजिटिव के इलाज में लापरवाही पर अस्पताल के खिलाफ केस, OPD बंद करने का आदेश
कटघोरा इलाके को पूरी तरह सीलबंद कर दिया गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कोरोना वायरस (coronavirus) संक्रमित मरीज के इलाज को लेकर सरकारी निर्देशों की अनदेखी पर पश्चिमी दिल्ली के महाराज अग्रसेन अस्पताल के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने विभिन्न कानूनों के तहत केस दर्ज किया.

  • News18India
  • Last Updated: April 10, 2020, 12:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस ने शहर के एक अस्पताल के प्रबंधन के खिलाफ कोरोना वायरस (coronavirus) मामलों के बारे में स्थानीय प्रशासन को सूचित करने में लापरवाही बरतने का मामला दर्ज किया है. पुलिस (Delhi Police) ने कहा कि पश्चिमी दिल्ली के पंजाबी बाग स्थित महाराज अग्रसेन अस्पताल के अधिकारियों ने सरकारी दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करते हुए कोरोना पॉजिटिव मरीज का शव स्थानीय प्रशासन को सूचित किए बगैर उसके संबंधियों को सौंप दिया. मामले की जांच जारी है.

इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस ने बताया कि महाराजा अग्रसेन अस्पताल ने एक 72 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव महिला को गंगाराम हॉस्पिटल के लिए रेफर किया था. हिंदुस्तान टाइम्स में छपी रिपोर्ट के मुताबिक गंगाराम हॉस्पिटल के 100 से ज्यादा स्टाफ को क्वारेंटाइन में रहने के आदेश दिए गए थे, इसके बावजूद अग्रसेन अस्पताल ने महिला मरीज को वहां रेफर कर दिया. इधर, दिल्ली सरकार ने कोरोना पॉजिटिव मरीज को रेफर करने को लेकर अग्रेसन अस्पताल में भर्ती सभी मरीजों और 82 स्टाफ की जांच के आदेश दिए हैं.

कोरोना पॉजिटिव मरीज का शव परिजनों को सौंपा



हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली वेस्ट के डीसीपी दीपक पुरोहित ने बताया कि बीते 4 अप्रैल को अग्रसेन अस्पताल में मरीज की मौत हो गई थी. अस्पताल प्रबंधन ने दिल्ली सरकार को सूचना दिए बगैर मरीज का शव उसके परिजनों को सौंप दिया. यह सरकार के निर्देशों का उल्लंघन है. डीसीपी ने बताया कि मरीज की मृत्यु के बाद उसके अंतिम संस्कार में परिजनों समेत कई लोग उपस्थित हुए थे. बाद में पता चला कि उस मरीज के भाई में भी कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया. इसी आधार पर पुलिस ने आपदा प्रबंधन एक्ट, एंडेमिक एक्ट और आईपीसी के तहत अग्रसेन अस्पताल के खिलाफ केस दर्ज किया है.



अस्पताल ने आरोपों को खारिज किया

इधर, कोरोना पॉजिटिव मरीजों को रेफर करने के मामले में विवाद के बाद अग्रसेन हॉस्पिटल ने सफाई दी है. साथ ही दिल्ली पुलिस के आरोपों को खारिज किया है. अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. दीपक सिंगला ने हिंदुस्तान टाइम्स के साथ बातचीत में कहा कि 20 मार्च को ही अस्पताल के क्लीनिक को बंद कर दिया गया था. उसके बाद से सिर्फ इमरजेंसी केस ही देखे जा रहे थे. बहुत कम संख्या में ही मरीजों को भर्ती किया गया था.

डॉ. सिंगला ने कहा कि सरकार के सभी दिशा-निर्देशों का हम लोगों ने पालन किया है. दोनों मरीजों के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें 10 मार्च को भर्ती किया गया था. कोरोना वायरस की आशंका को लेकर अस्पताल में उनकी कोई जांच नहीं की गई थी, क्योंकि न तो दोनों मरीजों और न ही उनके परिवार में से किसी की ट्रैवल हिस्ट्री ऐसी थी. इनमें से 72 वर्षीय महिला मरीज डॉक्टर की सलाह को न मानते हुए गंगाराम हॉस्पिटल चली गईं. जब दूसरे मरीज के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला तो हमने तुरंत सरकार के अधिकारियों को सूचना दी थी.

ये भी पढ़ें-

Drone से नजर रख रही दिल्ली पुलिस, जारी किया Video

COVID 19: अब दिल्ली में तीन कैंसर के मरीज भी कोरोना पॉजिटिव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading