Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    ऐसी बेपरवाहियां बढ़ा रहीं दिल्ली में कोरोना के मामले, देखें सदर बाजार का वीडियो

    सदर बाजार में आज खरीदारी के लिए उमड़ी भीड़ जिस तरह बेपरवाह थी, उससे दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ने की आशंका बलवती होती है.
    सदर बाजार में आज खरीदारी के लिए उमड़ी भीड़ जिस तरह बेपरवाह थी, उससे दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ने की आशंका बलवती होती है.

    दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Corona infection) के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं. बता दें कि दिल्ली में कल यानी बुधवार को एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा 8,593 नए मामलों की पुष्टि हुई है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: November 12, 2020, 6:55 PM IST
    • Share this:
    दिल्ली. आज धनतेरस और दिवाली की खरीदारी के लिए बाजार (Market) में लोग टूट पड़े हैं. राजधानी दिल्ली (Delhi) के सदर बाजार (Sadar Bazar) में भीड़ इतनी जबर्दस्त है कि लग रहा है तिल रखने की भी जगह नहीं मिलेगी. एक-दूसरे से टकराते, रगड़खाते लोग अपनी-अपनी खरीदारी में मगन हैं. लापरवाही का आलम यह कि कई सारे लोगों के चेहरे पर मास्क नहीं है, जबकि दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Corona infection) के मामले बहुत तेजी से बढ़े हैं. बता दें कि दिल्ली में कल यानी बुधवार को एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा 8,593 नए मामलों की पुष्टि हुई है. इस दौरान 85 और रोगियों ने दम तोड़ दिया. अब तक दिल्ली में कोरोना महामारी ने 7 हजार 228 लोगों की जान ले ली है.

    हाई कोर्ट ने पूछा कि ढील पर अब तक रोक क्यों नहीं लगाई

    दिल्ली में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने अरविंद केजरीवाल सरकार को फटकार लगाते हुए उनकी कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए हैं. सीरो सर्वे रिपोर्ट (Sero Survey Report) का जिक्र करते हुए कोर्ट ने कहा है कि रिपोर्ट देखने से लगता है कि दिल्ली (Delhi) में हर चार में से एक शख्स कोरोना (Corona) से संक्रमित है और हर घर में कोई न कोई कोरोना की चपेट में आ चुका है. दिल्ली में कोरोना ने इतना भयानक रूप ले लिया है इसके बावजूद दिल्ली सरकार ने अभी तक कोई उचित कदम क्यों नहीं उठाया है और कोरोना पर दी गई ढील पर अब तक रोक क्यों नहीं लगाई गई है.





    25 प्रतिशत लोगों में एंटी बॉडी

    ध्यान दिला दें कि दिल्ली में किए गए सीरो सर्वे के चौथे चरण की रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में नवंबर महीने में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है. इस रिपोर्ट को न्यायमूर्ति हिमा कोहली और सुब्रमणियम प्रसाद के पीठ के समक्ष रखा गया. सीरो सर्वे की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की जांच में 25 प्रतिशत लोगों के शरीर में COVID-19 एंटी बॉडी पाए गए हैं.

    33 निजी अस्पतालों के 80 फीसदी आईसीयू बेड कोरोना मरीजों के लिए

    इस बीच हाईकोर्ट ने दिल्ली के 33 प्राइवेट अस्पतालों के 80 फीसदी आईसीयू बेड कोरोना वायरस मरीजों के लिए रिजर्व करने का बड़ा आदेश दे दिया है. दिल्ली उच्च न्यायालय के खंडपीठ ने कोरोना संक्रमण के रोगियों के लिए निजी अस्पतालों के 80% ICU बेड आरक्षित करने के दिल्ली सरकार के निर्णय पर अंतरिम रोक के एकल-न्यायाधीश पीठ के आदेश को हटा दिया.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज