Assembly Banner 2021

गाजियाबाद: निलंबित महिला SHO के घर से बरामद हुए गबन के रुपये

गाजियाबाद की निलंबित महिला SHO लक्ष्मी सिंह चौहान

गाजियाबाद की निलंबित महिला SHO लक्ष्मी सिंह चौहान

मामला सामने आने के बाद गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह (SSP Sudhir Kumar Singh) ने सख्त कार्रवाई करते हुए एक महिला एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान और एक दरोगा सहित 5 सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था.

  • Share this:
गाजियाबाद. गाजियाबाद पुलिस (Ghaziabad Police) ने देर रात पूर्व महिला एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान (SHO Lakshmi Singh Chauhan) के घर पर छापेमारी कर 1 लाख 25 हजार रुपये बरामद किए. एसपी सिटी श्लोक कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने निलंबित महिला एसएचओ (Suspended Woman SHO) लक्ष्मी सिंह चौहान के घर पर दबिश दी. टीम ने घर का ताला तोड़कर 1.25 रुपये बरामद किए है. बता दें कि भ्रष्टाचार (Corruption) में संलिप्तता पाए जाने के बाद से लक्ष्मी सिंह चौहान घर से फरार हैं. घटना सामने आने के बाद गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह (SSP Sudhir Kumar Singh) ने सख्त कार्रवाई करते हुए महिला एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान और एक दरोगा सहित 5 सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था.

क्या है पूरा मामला

बता दें कि एटीएम से गबन मामले में पकड़े गए करीब एक करोड़ रुपए से करीब 60 लाख रुपए गायब होने का आरोप इन पुलिसकर्मियों पर लगा है. मामले में की गई जांच में सीसीटीवी फुटेज भी सामने आई है, जिसमें एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान सरकारी गाड़ी से प्राइवेट गाड़ी में बैग रखते हुए कैद हुई हैं. एसपी सिटी की जांच में लक्ष्मी सिंह चौहान पर लगे आरोप सही पाए गए हैं.



दो आरोपियों से पकड़े गए थे करीब 1 करोड़ 25 लाख रुपये
दरअसल थाना लिंक रोड क्षेत्र के एटीएम से सीएमएस के कर्मचारियों द्वारा गबन कराए जाने का ये मामला है. इस केस में 24/25 सितंबर 2019 की रात लक्ष्मी चौहान ने अन्य पुलिसकर्मियों के साथ राजीव सचान और आमिर को गिरफ्तार किया. इनके पास से 45 लाख 81 हजार 500 रुपये की बरामदगी दिखाई. मामले में साहिबाबाद के सीओ राकेश कुमार मिश्र ने गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ की तो पता चला कि राजीव सचान से करीब 55 लाख रुपये और आमिर से 60 से 70 लाख रुपये पकड़े गए थे.

पूरा थाना भ्रष्टाचार में पाया गया शामिल

बरामद पैसों में अंतर पाए जाने पर थाना लिंक रोड प्रभारी लक्ष्मी सिंह चौहान, एसआई नवीन कुमार पचौरी और 5 कॉन्स्टेबल बच्चू सिंह, फराज, धीरज भारद्वाज, सौरभ कुमार और सचिन कुमार की भूमिका संदिग्ध पाई गई. एसएसपी के अनुसार इन सभी को पुलिस की छवि धूमिल करने के कारण तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं.

(रिपोर्ट: अमित राणा)

ये भी पढ़ें:

CM योगी आज जम्मू कश्मीर के छात्र-छात्राओं से करेंगे मुलाकात, ये रही वजह

घूस लेते रंगे हाथ पकड़े गए CMO अयोध्या डॉ. हरिओम श्रीवास्तव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज