बैंकों से 1400 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी में क्वॉलिटी लिमिटेड के कई ठिकानों पर CBI का तलाशी अभियान

सीबीआई ने दिल्ली, हरियाणा, यूपी और राजस्थान में छापेमारी कर कई महत्वपूर्ण दस्तावेज, मोबाइल फोन, हार्ड डिस्क जब्त किए हैं. (न्यूज़18 इलस्ट्रेशन)
सीबीआई ने दिल्ली, हरियाणा, यूपी और राजस्थान में छापेमारी कर कई महत्वपूर्ण दस्तावेज, मोबाइल फोन, हार्ड डिस्क जब्त किए हैं. (न्यूज़18 इलस्ट्रेशन)

यह मामला बैंक ऑफ इंडिया सहित कई बैंकों से करीब 1400 करोड़ रुपये का लोन लेने के बाद फर्जीवाड़े का है. सीबीआई ने क्वॉलिटी लिमिटेड के मालिकों संजय ढिंगरा, अरुण श्रीवास्तव और सिद्धांत गुप्ता के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 8:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सीबीआई (CBI) ने बैंक ऑफ इंडिया (Bank of india) की शिकायत पर एक निजी कंपनी मेसर्स क्वॉलिटी लिमिटेड और उस कंपनी के निदेशकों के खिलाफ मामला दर्ज करने के बाद राजधानी दिल्ली सहित यूपी के सहारनपुर, बुलंदशहर, राजस्थान के अलवर और हरियाणा के पलवल सहित कुल 8 लोकेशन पर सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया. दरअसल यह मामला बैंक ऑफ इंडिया सहित कई बैंकों से करीब 1400 करोड़ रुपये का लोन लेने के बाद फर्जीवाड़े करने का है. सीबीआई द्वारा दर्ज एफआईआर के मुताबिक, इस निजी कंपनी ने बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India), केनरा बैंक ( Canara Bank), बैंक ऑफ बड़ोदा (BoB), धनलक्ष्मी बैंक ( Dhanlaxmi Bank), सेंडिकैट बैंक (Syndicate Bank) को चूना लगाया है. इन बैंकों में बैंक ऑफ इंडिया मुख्य तौर पर आगे है. हालांकि सबसे ज्यादा नुकसान इसी बैंक को हुआ है. लिहाजा इस फर्जीवाड़े के खिलाफ बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से ही सीबीआई में मामला दर्ज करवाया गया है. बैंक ऑफ इंडिया के दिल्ली स्थित जनपथ की चंद्रलोक बिल्डिंग में बैंक का यह ब्रांच है.

क्या कहती है सीबीआई की FIR

सीबीआई द्वारा मेसर्स क्वॉलिटी लिमिटेड (M/s Kwality ltd) के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. मेसर्स क्वॉलिटी लिमिटेड कंपनी का दिल्ली में राजौरी गार्डन इलाके के एफ-82 शिवाजी प्लेस में केडीआईएल (KDIL House) में दफ्तर है. जब कई बैंको से करोड़ों रुपये कर्ज लिया जा रहा था, उस वक्त इसी कंपनी और पते के आधार पर लोन लिया गया था. लोन लेने के वक्त काफी फर्जीवाड़े को अंजाम दिया गया था. सीबीआई ने जांच में पाया कि बैंक से लिया गया फंड का कई दूसरे बैंक एकाउंट में डायवर्ट किया गया. इसके साथ ही लेनदेन के फर्जी दस्तावेज और कंपनी की तमाम संपत्तियों (Assets) और उत्तरदायित्व (liabilites) को जाली कागजात से दिखाया गया. इस मेसर्स क्वॉलिटी लिमिटेड कंपनी के मालिक संजय ढिंगरा, अरुण श्रीवास्तव और सिद्धांत गुप्ता हैं. इस मामले में सीबीआई कई अज्ञात सरकारी बैंक अधिकारियों के खिलाफ भी मामला दर्ज कर तफ्तीश में जुट गई है. एफआईआर के मुताबिक सभी आरोपी दिल्ली में ही रहते हैं, लेकिन अलग-अलग राज्यों में उसके दफ्तर सहित कारोबार हैं, लिहाजा उन लोकेशन पर सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है.



चार राज्यों में छापेमारी
सीबीआई मुख्यालय के सूत्रों के मुताबिक दिल्ली, हरियाणा, यूपी और राजस्थान में सोमवार देर शाम तक हुई छापेमारी के दौरान कई महत्वपूर्ण दस्तावेज, मोबाइल फोन, कंप्यूटर के हार्ड डिस्क जब्त किए गए हैं. सीबीआई की टीम जब्त की गई इन चीजों को विस्तार से खंगालेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज