CBSE 10th 12th Board exams: बच्‍चों को कोरोना से बचाने के लिए सीबीएसई कर रही करोड़ों खर्च, ये मिलेंगी सुविधाएं

सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं तय समय पर ही होंगी.

सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं तय समय पर ही होंगी.

CBSE 10th 12th Board exams: सीबीएसई की ओर से बताया गया कि स्‍कूलों में बच्‍चों की स्‍क्रीनिंग के साथ ही उन्‍हें बिठाने के खास इंतजाम किए गए हैं. 40 स्‍क्‍वायर फीट के एक कमरे में सिर्फ 12 बच्‍चे बैठकर परीक्षा देंगे. क्‍लासरूम की सीटें नियमित सैनिटाइज होंगी. बच्‍चों के स्‍कूल से निकलने और घुसने तक में सोशल डिस्‍टेंसिंग होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 4:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देशभर में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए चार मई से शुरू होने जा रही सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं पर संकट मंडरा रहा है. हाल ही में कुछ छात्रों और अभिभावक की ओर से सीबीएसई के अलावा शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र भेजकर परीक्षाएं रद्द करने की मांग की गई है. वहीं अब प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने भी संक्रमण को देखते हुए परीक्षाएं कैंसल करने की अपील की है. हालांकि बोर्ड इस मसले पर अपना विचार बदलने के पक्ष में नहीं है. बोर्ड का कहना है कि

सीबीएसई बोर्ड के परीक्षा नियंत्रक डॉ. संयम भारद्वाज ने न्‍यूज 18 हिंदी से बातचीत में कहा कि चार मई से होने वाली परीक्षाएं (Exams) तय समय पर होंगी. इसके लिए बोर्ड ने सभी तैयारियां कर ली हैं. अभिभावकों और बच्‍चों से मिले पॉजिटिव रिस्‍पॉन्‍स के बाद हर स्थित‍ि पर नजर रखते हुए बोर्ड बच्‍चों के इस साल को बचाने की पूरी कोशिश कर रहा है. उन्‍होंने कहा कि देश में बीमारी की वजह से परेशानियां हैं लेकिन बोर्ड परीक्षाओं में शामिल होने वाले बच्‍चों को लेकर बेहद संवेदनशील है बल्कि करोड़ों रुपये खर्च कर कोरोना के समय में सुरक्षित रूप से परीक्षा संपन्‍न कराने में जुटा हुआ है.

उन्‍होंने बताया कि 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए सीबीएसई ने इस बार मोटा पैसा खर्च किया है. कोरोना के चलते बोर्ड परीक्षाओं में इस बार करीब 15 करोड़ रुपये अतिरिक्‍त खर्च किया जा रहा है. यह खर्च एक्‍जाम सेंटरों के रूप में बढ़ाए गए 50 फीसदी स्‍कूलों के अलावा कोरोना नियमों का पालन करने और खासतौर पर सेनिटाइजेशन के लिए होगा. वे बताते हैं कि इस बार देशभर में 35 लाख बच्चे परीक्षा देंगे. ऐसे में बोर्ड हर दिन के प्रति बच्‍चा पांच रुपये के हिसाब से एक बच्‍चे पर 25 रुपये सैनिटाइजेशन और कोरोना बचाव के लिए खर्च करेगा.

cbse board exam 2021, cancel boards 2021, cancel board exams 2021, 10th board exams, corona pandemic, corona cases, 12th board exams, priyanka gandhi, PMK founder S Ramadoss, mns chief raj thackeray, बोर्ड परीक्षा-2021, सीबीएसई बोर्ड परीक्षा, प्रियंका गांधी, पीएमके संस्थापक एस रामदास, राज ठाकरे, बोर्ड परीक्षा रद्द, 10वीं बोर्ड परीक्षा, 12वीं बोर्ड परीक्षा
छात्र पीएम मोदी से भी कर चुके हैं परीक्षाएं रद्द करने की मांग.

इसके साथ ही हर स्‍कूल या सेंटर को सीबीएसई की ओर से पांच हजार रुपये इसलिए दिए जा रहे हैं ताकि वह कोरोना से बचाव के लिए सैनिटाइजर, साबुन,डस्‍टबिन आदि खरीद सके और साफ-सफाई का इंतजाम कर सके. परीक्षा सेंटरों की संख्‍या बढ़ाने के साथ ही बड़ी संख्‍या में सुप्रिटेंडेंट और डिप्‍टी सुप्रिटेंडेंट रखे गए हैं. ताकि कोरोना के इस दौर में परीक्षाएं सावधानीपूर्वक हो सकें.

एक कमरे में बैठेंगे सिर्फ 12 बच्‍चे

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज