Home /News /delhi-ncr /

center approve budget to develop stretch upto lipulekh at china border know why this highway crucial

China Border पर लिपुलेख तक स्ट्रेच का होगा विस्तार, 650 करोड़ के बजट को हरी झंडी, क्यों खास है ये हाईवे?

उत्तराखंड में चीन बॉर्डर रोड के लिए केंद्र ने बजट मंजूर कर दिया.

उत्तराखंड में चीन बॉर्डर रोड के लिए केंद्र ने बजट मंजूर कर दिया.

Uttarakhand Border Road : अब तक कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए सिक्किम या नेपाल होते हुए रास्ते हैं. यह रूट तैयार हो जाने से पूरी तरह भारतीय रूट से यह तीर्थयात्रा संभव होगी. साथ ही सीमा सुरक्षा के लिए यह रूट खास है. जानिए इस रास्ते पर काम से जुड़े तमाम अपडेट और खास बातें.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली/देहरादून. उत्तराखंड में चीन बॉर्डर से जुड़ने वाली एक बेहद अहम रोड को चौड़ा किए जाने को लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय ने वित्तीय मंजूरी दे दी है. जिस सड़क को चौड़ा किया जाएगा, वह पिथौरागढ़ स्थित तवाघाट से शुरू होकर उत्तराखंड में टनकपुर तक उस स्ट्रेच तक जाता है, जो चाइना बॉर्डर स्थित लिपुलेख से जुड़ता है. केंद्रीय मंत्रालय ने तवाघाट से काली नदी के उद्गम पर स्थित काली मंदिर तक के 76 किलोमीटर के स्ट्रेच के लिए यह मंजूरी दी है.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तराखंड के सीमांत इलाके धारचूला से लिपुलेख की रोड लिंक का शुभारंभ करते हुए पिथौरागढ़ से गुंजी तक के लिए एक वाहन दल को भी हरी झंडी दिखाई थी. इसके करीब दो साल बाद इस रोड के विकास के लिए यह बड़ा कदम उठाया गया है. टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक इस प्रोजेक्ट के तहत स्ट्रेच को अब मीटर की चौड़ाई तक बढ़ाया जाएगा और अगले तीन सालों में इस निर्माण कार्य के लिए 650 करोड़ रुपये का बजट मंजूर कर दिया गया है.

आखिर क्यों खास है ये रोड?

>> कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए यह रूट सबसे छोटा होगा.

>> सबसे छोटा ही नहीं बल्कि इस रूट से भारतीय सीमा से ही कैलाश मानसरोवर यात्रा आप कर सकेंगे.

>> पिछले साल दिसंबर में इस स्ट्रेच को मंत्रालय ने नेशनल हाईवे के तौर पर घोषित किया था.

>> इस हाईवे पर अनुमान है कि 10,000 वाहन रोज़ाना चल सकेंगे.

>> इस रूट से तीर्थयात्रा और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

>> यह रूट सेना के लिए सप्लाई के लिहाज़ से भी काफ़ी अहम बताया जा रहा है.

क्या है इस रूट पर काम का स्टेटस?

बॉर्डर सड़क संगठन ने पहाड़ काटने का काम पूरा कर लिया है. हाल में सड़क परिवहन व हाईवे मंत्रालय के ​सचिव गिरधर आरामणे ने इस रोड लिंक का हवाई सर्वेक्षण किया था. अधिकारियों के मुताबिक अभी टनकपुर से बालुवाकोट तक कनेक्टिविटी है जबकि बालुवाकोट से तवाघाट का काम शुरू हुआ है. काली मंदिर तक काम जब पूरा होगा, तो चीन बॉर्डर तक बढ़िया कनेक्टिविटी होने के दावे भी अधिकारियों ने किए हैं. निर्माण कार्य के चलते फिलहाल इस रूट पर वाहन नहीं चल सकते.

Tags: Highway, India china border, Uttarakhand news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर