Assembly Banner 2021

कोरोना के बढ़ते केसों पर केंद्र भी अलर्ट, 10 राज्यों में रवाना की मल्टी डिसीप्लिनरी हाई लेवल टीमें!

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव की ओर से 7 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों (Union Territory) को भी पत्र लिखा गया है. (प्रतीकात्मक)

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव की ओर से 7 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों (Union Territory) को भी पत्र लिखा गया है. (प्रतीकात्मक)

Corona in India: केंद्र सरकार की ओर से कई राज्यों के लिए मल्टी डिसीप्लिनरी हाई लेवल टीमें गठित कर राज्यों के लिए रवाना की गई हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव (Union Health Secretary) की ओर से 7 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों (Union Territory) को भी पत्र लिखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 2:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के कई राज्यों में एक बार फिर से कोरोना वायरस (Corona Virus) पैर पसारने लगा है. देश के करीब 7 राज्यों में हर रोज तेजी से कोरोना (Covid 19) के नए प्रकार के मामले रिकॉर्ड किए जा रहे हैं. वहीं, अब इन बढ़ते मामलों को लेकर केंद्र सरकार (Central Government) भी हरकत में आ गई है.

सभी जरूरी एहतियातन कदमों को सख्ती से लागू करने के आदेश
केंद्र की ओर से अब कई राज्यों के लिए मल्टी डिसीप्लिनरी हाई लेवल टीमें गठित कर राज्यों के लिए रवाना की हैं. साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव (Union Health Secretary) की ओर से 7 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों (Union Territory) को भी पत्र लिखा गया है. विशेषकर महाराष्ट्र, केरल, छत्तीसगढ़, गुजरात, पंजाब, मध्य प्रदेश और जम्मू-कश्मीर प्रशासन को स्वास्थ्य सचिव की ओर से पत्र लिखकर कोरोना से संबंधित गाइडलाइंस को और सख्ती से अनुपालन कराने और सभी जरूरी एहतियातन कदमों को सख्ती से लागू करने के आदेश भी दिए हैं.

इन राज्‍यों में भेजी गईं टीमें
जानकारी के मुताबिक, केंद्र सरकार की ओर से जिन राज्यों में मल्टी-डिसीप्लिनरी हाई लेवल टीमें रवाना की गई हैं, उनमें महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर प्रमुख रूप से शामिल हैं.



केरल ने पीएम से की थी हस्‍तक्षेप की मांग
बताते चलें कि कल मंगलवार को केरल के सीएम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से उस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की थी, जिसमें कर्नाटक सरकार (Karnataka Government) की ओर से केरल से लगती हुई सीमाओं पर आवाजाही को सील कर दिया गया था. वहीं, इन राज्यों में तेजी से फैल रहे कोरोना के मामलों को लेकर केंद्र भी पूरी तरीके से गहन नजर बनाए हुए हैं.

दिल्‍ली में एंट्री के लिए दिखानी होगी रिपोर्ट
उधर, दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने भी एहतियातन कदम उठाते हुए 26 फरवरी से इन सभी राज्यों से आने वाले लोगों की कोरोना संबंधी RTPCR जांच की नेगेटिव रिपोर्ट जरूरी दिखाने के आदेश भी दिए हैं. इन राज्यों से आने वाले लोगों को दिल्ली में एंट्री करने पर RTPCR रिपोर्ट नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा. इसके बाद ही उनको दिल्ली में एंट्री दी जाएगी. ऐसा नहीं करने की स्थिति में दिल्ली सरकार की ओर से उनको क्वारंटाइन पीरियड में भेजा जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज