होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /होटल या रेस्टोरेंट में खाना खाने के बाद सर्विस चार्ज मांगा जाए तो क्या करें ग्राहक?

होटल या रेस्टोरेंट में खाना खाने के बाद सर्विस चार्ज मांगा जाए तो क्या करें ग्राहक?

केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण ने होटलों, रेस्तरां और ढाबों आदि को खाने-पीने के बिल में सर्विस चार्ज लगाने से प्रतिबंधित कर दिया है.

केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण ने होटलों, रेस्तरां और ढाबों आदि को खाने-पीने के बिल में सर्विस चार्ज लगाने से प्रतिबंधित कर दिया है.

CCPA New Law Update: केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (CCPA) ने होटलों, रेस्तरां और ढाबों आदि को खाने-पीने के बिल मे ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (CCPA) ने सर्विस चार्ज को लेकर नए नियम बनाए हैं. इसके तहत होटल और रेस्टोरेंट पर बिल में लगने वाले सर्विस चार्ज को लेकर पाबंदी लगा दी गयी है. अब होटल और रेस्टोरेंट ग्राहकों पर सर्विस चार्ज के पेमेंट के लिए कोई दबाव नहीं डाल सकता है. अगर इसके बाद भी दबाव बनाया जाता है तो ग्राहक को क्या करना चाहिए…

दिल्ली होटल एंड रेस्टोरेंट ऑनर्स एसोसिएशन के चेयरमैन संदीप खंडेलवाल ने कहा कि यह कदम अच्छा है लोग काफ़ी टाइम से परेशान थे. 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का सर्विस चार्ज मनमानी को दर्शा रहा है. इसलिए अब इस मनमानी पर रोक लगना जरूरी है. मेरे पास भी जैसे ही नोटिफ़िकेशन आई, मैंने फ़ौरन सर्विस चार्ज को हटा दिया.

ग्राहक कैसे कर सकते हैं शिकायत
खंडेलवाल ने कहा कि मैं यह भी बताना चाहूंगा की अगर आप बिल से सेवा शुल्क हटाना चाहते हैं, तो आप इसके लिए संबंधित होटल से अनुरोध कर सकते हैं या फिर सीधा राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन पर शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं. पोर्टल www.e-daakhil.nic.in के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक रूप से भी शिकायत दर्ज की जा सकती है.

ग्राहकों के लिए कितनी बड़ी राहत है ये 
आइए अब जानते है की ग्राहकों को सर्विस चार्ज की मार को किस तरह झेलना पड़ रहा था और अब यह कितनी बड़ी राहत है. एक ग्राहक ने बताया कि यह एक अच्छी पहल है, सर्विस चार्ज के नाम पर यह दलील दी जाती है की यह तो waiters के लिए है हालांकि उसके लिए हम खुद टिप दे सकते हैं. कई बार मैंने सर्विस चार्ज देने से माना किया तो इसे माना नई गया अब इसपर शिकायत की जा सकती है यह अच्छा है.

एक अन्य ग्राहक ने बताया कि कई बार सर्विस अच्छी ना होने पर भी चार्ज दिया है. यह पहल अच्छी है और अब जानकारी भी है की अगर ऐसा कुछ होता है तो क्या करना है. मुझे बिलकुल पसंद नहीं कि मैं सर्विस चार्ज दूं, मैं देना चाहती भी नहीं, इसके बदले टिप देती हूं.

सीसीपीए के क्या हैं दिशानिर्देश –

  • होटल या रेस्तरां खाने के बिल में सेवा शुल्क नहीं जोड़ सकेगा.
  • किसी अन्य नाम से सेवा शुल्क नहीं लिया जा सकेगा.
  • होटल या रेस्तरां सेवा शुल्क का भुगतान करने के लिए बाध्य नहीं करेगा.
  • होटल या रेस्तरां स्‍‍पष्‍‍ट तौर पर बताएगा कि सेवा शुल्क देना ऐच्छिक, वैकल्पिक और उपभोक्ता का अधिकार है.
  • रेस्तरां सेवा शुल्क नहीं लगा पाने की वजह से सेवाएं देने से मना नहीं कर सकेगा.
  • सेवा शुल्क को खाने के बिल के साथ जोड़कर और कुल राशि पर जीएसटी लगाकर नहीं लिया जा सकेगा.
  • होटल या रेस्तरां दिशा निर्देशों का उल्लंघन करते हुए सेवा शुल्क लगा रहा है, तो उपभोक्ता संबंधित होटल या रेस्तरां से सेवा शुल्क को बिल राशि से हटाने का अनुरोध कर सकता है.
  • उपभोक्ता राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन (एनसीएच) 1915 पर कॉल करके या एनसीएच मोबाइल ऐप के माध्यम से शिकायत दर्ज करा सकता है.
  • उपभोक्ता अनुचित व्यापार कार्य प्रणाली के ख़िलाफ़ उपभोक्ता आयोग में शिकायत भी दर्ज करा सकता है.
  • त्वरित और प्रभावी तरीके से निपटाने के लिए ई-दाखिल पोर्टल www.e-daakhil.nic.in के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक तरीके से भी शिकायत दर्ज की जा सकती है.
  • उपभोक्‍‍ता जांच और सीसीपीए द्वारा आगे की कार्यवाही के लिए सम्‍‍बद्ध जिले के ज़िला कलेक्‍‍टर को शिकायत दर्ज करा सकता है.
  • सीसीपीए को शिकायत ई-मेल com-ccpa@nic.in. पर भेजी जा सकती है.

Tags: Delhi news, Delhi news updates

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें