• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • केन्द्र सरकार का दावा, Lockdown के दौरान प्रति व्यक्ति 5 किलो के हिसाब से बांटा 139 लाख मीट्रिक टन गेहूं-चावल

केन्द्र सरकार का दावा, Lockdown के दौरान प्रति व्यक्ति 5 किलो के हिसाब से बांटा 139 लाख मीट्रिक टन गेहूं-चावल

Demo pic

Demo pic

  • Share this:
    नई दिल्ली. 24 मार्च से लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान होने के बाद से ही जरूरतमंदों तक राशन पहुंचाया जा रहा है. ऐसे में जब मजदूरों की घर वापसी के दौरान आरोप लग रहे हैं कि उन्हें राशन (Ration) नहीं मिल रहा तो केन्द्र सरकार का दावा है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून (NFSA) और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY) के तहत हर राशन कार्ड होल्डर तक प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं-चावल दिया जा रहा है.

    लॉकडाउन पीरियड में 12 मई तक देशभर में 139 लाख मीट्रिक टन गेहूं-चावल बांटा जा चुका है. इस महीने भी राशन की दुकानों से 5 किलो चावल और एक किलो चना बांटा जा रहा है. फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (FCI) ने यह आंकड़े जारी किए हैं;

    पीएम योजना में सबसे ज़्यादा बांटा जाता है चावल

    एफसीआई की ओर से जारी आंकड़ों की मानें तो लॉकडाउन के दौरान पीएमजीकेवाई योजना के तहत 2 किलो चावल प्रति व्यक्ति के हिसाब से बांटा जा रहा है. 25 मार्च से 12 मई तक करीब 70 लाख मीट्रिक टन चावल का वितरण कयिा जा चुका है. और एनएफएसए के तहत 32 लाख मीट्रिक टन चावल बांटा गया है. कुल मिलाकर अभी तक 102 लाख मीट्रिक टन चावल बांटा जा चुका है. जबकि दोनों ही योजनाओं के तहत अभी तक 37 लाख मीट्रिक टन गेहूं बांटा गया है.

    देश के गोदामों में भरा पड़ा है 642 लाख मीट्रिक टन अनाज

    एफसीआई के मुताबिक किसी भी हालात से निपटने के लिए हमारे गोदामों में अनाज की कोई कमी नहीं है. एक मई के स्टॉक के अनुसार देश के गोदामों में 642.7 लाख मीट्रिक टन अनाज भरा पड़ा है. इसमे चावल 285.03 लाख टन और गेहूं 357.7 लाख मीट्रिक टन है. वहीं सभी तरह की योजनाओं समेत अभी तक 159.36 लाख मीट्रिक टन अनाज जारी किया जा चुका है. राज्य सरकारों ने एनएफएसएके तहत 60.87 लाख मीट्रिक टन अनाज उठाया है. इसके अलावा  पीएमजीकेएवाई योजना के तहत वितरण के लिए 79.74 लाख मीट्रिक टन अनाज  उठाया गया है.

    इन्हें फ्री दिया जा रहा है राशन

    जिला पूर्ति अधिकारी, मेरठ नीरज सिंह का कहना है कि लगातार राशन की दुकानों से कार्ड होल्डर को गेहूं-चावल का वितरण किया जा रहा है. इसके साथ ही कंसट्रक्शन लेबर, रेहड़ी, मनरेगा, दिहाड़ी मजदूरों को फ्री राशन का वितरण किया जा रहा है. यह सभी वो लेबर है जो कहीं न कहीं सरकारी रजिस्टर में दर्ज है.

    ये भी पढ़ें:-

    Lockdown: दिल्ली में यहां से नहीं जाएगी कोई भी बस और ट्रेन, मजदूरों को दी न आने की सलाह

    Lockdown के दौरान Delhi-NCR में 4 बार इसलिए लगे भूकंप के झटके

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज