दिल्ली हिंसा में हत्या का आरोपी 2008 में भी कर चुका था मर्डर, जमानत पर था बाहर: चार्जशीट
Delhi-Ncr News in Hindi

दिल्ली हिंसा में हत्या का आरोपी 2008 में भी कर चुका था मर्डर, जमानत पर था बाहर: चार्जशीट
दिल्ली हिंसा के दौरान की एक तस्वीर (PTI)

दिल्ली हिंसा के दौरान 48 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता की हत्या के 16 अभियुक्तों में से एक, स्थानीय व्यापारी को छह साल पहले हत्या के लिए दोषी ठहराया गया था और उसे आजीवन कारावास की सजा मिली थी.

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली (North East Delhi) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर भड़की हिंसा (Delhi Violence) मामले में एक नई जानकारी आ रही है. मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली हिंसा के दौरान 48 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता परवेज की हत्या के 16 अभियुक्तों में से एक, स्थानीय व्यापारी नरेश त्यागी को छह साल पहले हत्या के लिए दोषी ठहराया गया था और उसे आजीवन कारावास की सजा मिली थी. दिल्ली पुलिस द्वारा दायर चार्जशीट के अनुसार, इसी साल 25 फरवरी को जब त्यागी, भजनपुरा में एक दंगाई भीड़ में शामिल हुआ तब वह इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत पर बाहर था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली हिंसा के दौरान 48 वर्षीय सामाजिक कार्यकर्ता परवेज की सीने में दाहिनी तरफ गोली लगने से मौत हो गयी थी. जिसमें हाई कोर्ट से जमानत पर छूटे नरेश त्यागी पर हत्या और हिंसा करने का मामला दर्ज किया गया है. दिल्ली पुलिस की चार्जशीट में त्यागी के खिलाफ पहले से चल रहे मामलों का भी उल्लेख किया गया है. जिसमें हत्या के आरोप में मिली सजा और इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा दी गई जमानत का उल्लेख है.

17 दिसंबर, 2008 को बागपत में एक निवासी की हत्या का मामला
जानकारी के मुताबिक 17 दिसंबर, 2008 को बागपत में एक निवासी की हत्या कर दी गयी थी. अदालत के रिकॉर्ड के मुताबिक जब पीड़ित दवा खरीदने के लिए बाजार को निकला था ता भी उसे गोली मर कर उसकी हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में साल 2014 में, तीन व्यक्तियों, हरिओम, प्रवीण और नरेश त्यागी को हत्या का दोषी ठहराया गया था. जिसमें अपील दायर करने के बाद 4 अप्रैल 2015 को त्यागी और प्रवीण को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जमानत दे दी थी, वहीं उनके एक साथी हरि ओम की जमानत 21 जुलाई 2015 को खारिज कर दी गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading