Home /News /delhi-ncr /

दिल्ली में छठ पूजा के लिए लोगों ने शुरू की घाटों की सफाई, कहा- पॉलिटिक्स छोड़ो, गंदगी हटाओ

दिल्ली में छठ पूजा के लिए लोगों ने शुरू की घाटों की सफाई, कहा- पॉलिटिक्स छोड़ो, गंदगी हटाओ

यमुना घाट पर सफाई करने वालों का आरोप है कि छठ पूजा को लेकर केवल पॉलिटिक्स हो रही है.

यमुना घाट पर सफाई करने वालों का आरोप है कि छठ पूजा को लेकर केवल पॉलिटिक्स हो रही है.

Delhi Chhath Puja: छठ पूजा शुरू हो चुकी है लेकिन इसको लेकर राजनीति खत्म नहीं हो रही है. डीडीएमए की गाइडलाइन के बाद भी आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच छठ को लेकर मचा सियासी घमासान थम नहीं रहा. इस बीच छठ व्रती आज यमुना किनारे घाटों की साफ-सफाई में जुट गए हैं. लोगों का कहना है कि इस मसले पर सभी दल सिर्फ राजनीति कर रहे हैं, पूजा के लिए साफ-सफाई की ओर किसी का ध्यान नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

Delhi Chhath Puja News: छठ पूजा पर दिल्ली में सियासी घमासान मचा हुआ है. राजनीतिक दल छठ पूजा को लेकर और यमुना नदी के घाटों को लेकर जमकर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे हैं. दूसरी ओर, छठ पूजा करने वाले इससे अलग घाटों की सफाई में जुट गए हैं. कालिंदी कुंज घाट पर आसपास के कई लोग यमुना के किनारे साफ सफाई में जुटे हुए हैं. इन लोगों का कहना है कि वह बुधवार को छठ पूजा के लिए आएंगे, लेकिन घाट की गंदगी को देखकर उन्होंने इसे साफ करने का मन बनाया है. क्योंकि सरकार या फिर एमसीडी (MCD) की तरफ से कोई नुमाइंदा यहां पर सफाई के लिए नहीं भेजा गया है.

सरकार और प्रशासन के रवैये के बाद महिलाएं और पुरुष घाट के आसपास सफाई में जुटे हुए हैं. उन्होंने कहा कि हर कोई राजनीति कर रहा है. दिल्ली सरकार ने घाट बनाए हैं, लेकिन उन्हें नहीं पता कि वह घाट कहां पर हैं. यही वजह है कि लोग सरकार को कोस रहे हैं और उन्होंने कहा कि वह इस जगह पर छठ पूजा मनाएंगे.

लोगों का कहना है कि हमने दिल्ली सरकार की बात को माना कि सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा ना करें. लेकिन सिसोदिया साहब ने बताया कि 800 घाट बना दिए हैं. वो कोई जगह तो बताए. लेकिन ऐसी कोई तैयारी नहीं है कि उन्हें कोई बताए कि यहां पर छठ घाट हैं. हम यहां पर सफाई कर रहें, हमें मना करने वाला तो आए बताए तो सही कि आप यहां पर ऐसा मत करो, केवल पॉलिटिक्स हो रही है.

लोगों का कहना है कि पॉलिटिक्स कर राजनेता अपना काम कर रहे हैं. जमीनी स्तर पर कोई हकीकत नहीं है. 6 महीने से देख रहे हैं कि कभी कोई कहता है परमिशन दे रहे हैं, कभी कोई कहता है परमिशन नहीं दे रहे हैं. इतने घाट बने हैं, उनकी लिस्ट बननी चाहिए. बड़े-बड़े बोर्ड लगने चाहिए कि इन इलाकों में लोगों को यह वाला घाट दिया गया है. लेकिन ऐसा कुछ नजर नहीं आ रहा है. वहीं महिलाओं ने कहा कि हमें कहीं कोई जगह नहीं मिली. हमें तो कोई घाट नहीं मिल रहा है.

Tags: Chhath Puja 2021, Chhath Puja in Delhi, Delhi Government

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर