होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /जहांगीरपुरी हिंसा पर बाल संरक्षण आयोग सख्त, कहा- 'बच्चों से हिंसा कराने वालों पर दर्ज की जाए FIR'

जहांगीरपुरी हिंसा पर बाल संरक्षण आयोग सख्त, कहा- 'बच्चों से हिंसा कराने वालों पर दर्ज की जाए FIR'

दिल्ली जहांगीरपुरी हिंसा मामले में गिरफ्तार 14 आरोपी रोहिणी कोर्ट में पेश (Image- ANI)

दिल्ली जहांगीरपुरी हिंसा मामले में गिरफ्तार 14 आरोपी रोहिणी कोर्ट में पेश (Image- ANI)

Jahangirpuri Violence: राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने उल्लेख करते हुए कहा है कि किशोर न्याय अधिनियम के तहत बच्चों ...अधिक पढ़ें

नयी दिल्ली. राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने रविवार को कहा कि उत्तर-पश्चिमी दिल्ली के जहांगीरपुरी में एक दिन पहले हुई हिंसा के दौरान कथित रूप से बच्चों का इस्तेमाल करने वालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए. दिल्ली पुलिस आयुक्त को लिखे एक पत्र में एनसीपीसीआर ने कहा कि कई बच्चों को पथराव करते और उस भीड़ में शामिल देखा गया, जिसने हिंसा शुरू की थी.

आयोग ने उल्लेख किया कि किशोर न्याय अधिनियम के तहत बच्चों का इस्तेमाल करना एक अपराध है और अधिनियम का उल्लंघन करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाए. इसने कहा, ‘इस पत्र की प्राप्ति के सात दिनों के भीतर कार्रवाई की रिपोर्ट आयोग को प्रस्तुत की जानी चाहिए.’

पुलिस के मुताबिक, शनिवार को यहां जहांगीरपुरी में दो समुदायों के बीच झड़प के दौरान पथराव और आगजनी हुई थी तथा कुछ वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया था. अधिकारियों ने रविवार को बताया कि दिल्ली पुलिस ने हिंसा की घटना के सिलसिले में 14 लोगों को गिरफ्तार किया है.

रविवार को इलाके में तनाव, भारी पुलिस बल मौजूद 

जहांगीरपुरी के सी ब्लॉक में हनुमान जयंती जुलूस के दौरान हुई हिंसा के एक दिन बाद रविवार को तनावपूर्ण शांति रही. शनिवार को हुई हिंसा के केंद्र सी ब्लॉक में पुलिस बल की भारी मौजूदगी रही. जहांगीरपुरी मेट्रो स्टेशन के पास की दुकानें तथा बाजार रविवार को हमेशा की तरह खुले रहे. हिंसा में एक स्थानीय व्यक्ति और 8 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे.

स्थानीय लोगों ने बताया कि कल शाम जब हिंसा भड़की तो वह सी ब्लॉक में मस्जिद के अंदर थे. उन्होंने कहा, ‘वे (हनुमान जयंती जुलूस में शामिल लोग) ‘जय श्री राम’ बोल रहे थे और भड़काऊ नारे लगा रहे थे. वे जबरन मस्जिद में घुस गए और इसके परिसर में भगवा झंडे लगाने लगे. वे हमें तलवार दिखाकर धमका रहे थे… तभी पथराव शुरू हुआ. जहांगीरपुरी में इस तरह की घटना पहले कभी नहीं हुई.’

Tags: Delhi news, Delhi riots, Delhi riots case

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें