कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को मिलेगी शेल्टर होम में पनाह, दिल्ली हाईकोर्ट का अहम निर्देश

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट का अहम निर्देश.

कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को लेकर दिल्ली हाईकोर्ट का अहम निर्देश.

Delhi News: दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने सरकार ने शेल्टर होम में बच्चों के लिए भोजन और कोरोना से बचाव के जरूरी इंतजाम करने कहा है.

  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना काल (COVID-19) के दौरान अनाथ हुए बच्चों को लिए दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने अहम निर्देश दिए हैं. कोर्ट ने ऐसे बच्चों को लिए 24 घंटे शेल्टर होम (Shelter Home) खोलने को कहा है. इसके साथ ही कोर्ट ने सरकार ने कहा कि शेल्टर होम्स में ही बच्चों के लिए भोजन और स्नान की व्यवस्था हो. साथ ही कोरोना से बचाव की भी व्यवस्था होनी चाहिए. कोर्ट ने पूछा, दिल्ली में बच्चों के 9 शेल्टर होम्स हैं. इनमें काफी कम संख्या में बच्चे रहते हैं, यह क्यो है? जबकि सड़क पर इतने बच्चे हैं. बचपन बचाओ आंदोलन की वकील ने कहा कि अब कोई और समय बर्बाद नहीं किया जा सकता है. बच्चों ने माता-पिता को खो दिया है. कहीं ये बच्चे बचपन ना खो दें.

हाईकोर्ट ने इबहास के डायरेक्टर से कहा कि हम चाहते है कि जो बच्चे कोविड की वजह से अनाथ हुए हैं उनकी देखभाल आप करें. इबहास के डायरेक्टर डॉ. निमेश देसाई ने कहा कि हमारे पास एक वार्ड है और अगर रेफरल अधिक हैं तो हम उसे बढ़ाने को तैयार हैं. जिन्हें अस्पताल में भर्ती की आवश्यकता है, उन्हें भर्ती करने में हमें कोई परेशानी नहीं है. साथ ही दिल्ली सरकार ने मोबाइल मानसिक स्वास्थ्य इकाई सेवाओं के विस्तार को मंजूरी दे दी है. हम इसे बच्चों तक पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं.

सरकार का खास प्लान

दिल्ली में कोरोना संक्रमण  से मचे हाहाकार के बाद अब दिल्ली सरकार ने लोगों की इम्युनिटी पावर  को बढ़ाने का काम करेगी. दिल्ली सरकार ने इसको लेकर एक योजना तैयार की है जिसके अंतर्गत पूरे शहर में कोरोना से लड़ने वाली प्रतिरोधक जड़ी बूटियों का रोपण किया‌ जाएगा. इस बीच देखा जाए तो केजरीवाल सरकार की ओर से हर साल की भांति इस बार भी वृहद वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया जा रहा है. लॉकडाउन की वजह से अभी पांच जून को इसकी सांकेतिक शुरूआत की जाएगी. इस दौरान लोगों को प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली जड़ी-बूटी के पौधे लगाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा.

Youtube Video

दिल्ली के पर्यावरण एवं वन मंत्री गोपाल राय का कहना है कि दिल्ली के अंदर खासतौर से प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने को लेकर के सब जगह चर्चा हो रही है. इसके पीछे बड़ी वजह यह भी है कि कोरोना संकट के दौरान वही ब्रह्मास्त्र है, जिसका प्रतिरोधक तंत्र ठीक है. वह इस लड़ाई को लड़ कर जीत रहा है और जिसका प्रतिरोधक तंत्र कमजोर हो रहा है, वो इस लड़ाई को हार जा रहा है. इसलिए वन विभाग की तरफ से दिल्ली के अंदर पिछले साल प्रतिरोधक तंत्र बढ़ाने वाली जड़ी-बूटियों के पौधों को लगाने का अभियान शुरू किया था. इस बार भी 5 जून से इसकी शुरुआत करने जा रहे हैं.प्रतिरोधक जड़ी बूटियों के पौधे सरकारी नर्सरी में फ्री ‍मिलेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज