चिराग पासवान पर बरसे LJP सांसद महबूब अली कैसर, बोले- कभी बात ही नहीं करते

खगड़िया से एलजेपी के सांसद महबूब अली कैसर ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए से अलग होने का फैसला सही नहीं था.

वैशाली से एलजेपी की सांसद वीणा देवी ने कहा कि पार्टी टूटने की बात लोग गलत कह रहे हैं. पार्टी नहीं टूटी है, सिर्फ नेतृत्व बदला गया है. उन्होंने साफ किया कि हमारी अपनी पार्टी है, हम JDU नहीं ज्वॉइन कर रहे हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में टूट के बाद अब उसके नेताओं के बयान सामने आ रहे हैं. एलजेपी के खगड़िया के सांसद महबूब अली कैसर ने कहा कि चिराग पासवान बात ही नहीं करते हैं. उन्होंने कहा कि बातचीत करने के कई जरिये हैं, लेकिन वे अपनाते नहीं. इस बीच वैशाली से एलजेपी की सांसद वीणा देवी ने कहा कि पार्टी में टूट जैसी कोई बात नहीं है, सिर्फ नेतृत्व बदला गया है.

एनडीए से अलग होना सही फैसला नहीं था : महबूब अली कैसर, जेडीयू

खगड़िया से एलजेपी के सांसद महबूब अली कैसर ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए से अलग होने का फैसला सही नहीं था. हाजीपुर के सांसद पशुपतिनाथ पारस की अगुवाई स्वीकार करने के बाद कैसर ने कहा कि चिराग पासवान हमारे साथ आना चाहें, तो उनका स्वागत है. वह बहुत अच्छे वक्ता हैं. लेकिन हमें सबसे बुरा तभी लगा जब उन्होंने बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान एनडीए के खिलाफ चुनाव लड़ा और मजबूरी में हमें भी यह कदम उठाना पड़ा. उन्होंने कहा कि एलजेपी की प्रासंगिकता कायम रहेगी और जिस तरीके से वह पहले काम कर रही थी, बिहार में वैसे ही काम करती रहेगी.

पार्टी नहीं टूटी, सिर्फ नेतृत्व बदला है : वीणा देवी, एलजेपी

वैशाली से एलजेपी की सांसद वीणा देवी ने कहा कि हमने स्पीकर को अपनी लेटर दे दी थी, उन्हें हमने अपना प्रस्ताव दे दिया था. उन्होंने कहा कि पार्टी टूटने की बात लोग गलत कह रहे हैं. पार्टी नहीं टूटी है, सिर्फ नेतृत्व बदला गया है. उन्होंने साफ किया कि हमारी अपनी पार्टी है, हम JDU नहीं ज्वॉइन कर रहे हैं.



जो जैसा करेगा, वैसा फल मिलेगा : आरसीपी सिंह, जेडीयू

एलजेपी में टूट के बाद जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह का बड़ा बयान सामने आया है कि जो जैसा करेगा वैसा फल मिलेगा. चिराग ने जैसा बोया, वैसा ही काट रहे हैं. चिराग पासवान ने बिहार विधानसभा चुनाव में एनडीए के खिलाफ में काम किया था. उनके खिलाफ पार्टी में विरोध चरम पर था. उसी का नतीजा है यह टूट. उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान अच्छे नेता थे. 2019 में हम साथ चुनाव लड़े और 39 सीट जीते. उन्होंने कहा कि बिना मेहनत पद मिलना आसान होता है, लेकिन उसे पचाना सब के लिए आसान नही होता. उन्होंने कहा एलजेपी में टूट को देखते हुए कहा कि एनडीए में दो दल हैं - जेडीयू और बीजेपी. जहां जाना चाहेंगे, उनका स्वागत होगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.