होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /शहीद भगत सिंह के नाम पर बने आर्मी स्कूल में क्या होगा? कौन व किस क्लास में ले सकता है एडमिशन, जानें प्रक्रिया

शहीद भगत सिंह के नाम पर बने आर्मी स्कूल में क्या होगा? कौन व किस क्लास में ले सकता है एडमिशन, जानें प्रक्रिया

 झरोदा कलां में 14 एकड़ जमीन पर ‘शहीद भगत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रिपरेटरी स्कूल’ बनाया जा रहा है.

झरोदा कलां में 14 एकड़ जमीन पर ‘शहीद भगत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रिपरेटरी स्कूल’ बनाया जा रहा है.

Shaheed Bhagat Singh School: अरविंद केजरीवाल (CM Arvind kejariwal) ने एक बड़ी घोषणा की है. उन्होंने कहा कि अब आर्मी के ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अरविंद केजरीवाल (CM Arvind kejariwal) ने एक बड़ी घोषणा की है. उन्होंने कहा कि अब आर्मी के लिए ​तैयारी करवाने वाले स्कूल को शहीद भगत सिंह स्कूल ( Shaheed Bhagat Singh School) के नाम से जाना जाएगा. इस स्कूल में किस तरह से एडमिशन लिया जा सकता है, कौन-सी क्लास के बच्चे इसके लिए एलिजिबल हैं, टेस्ट कब होंगे और पूरा प्रोसेस क्या रहेगा, आइए आपको इसकी विस्तार से जानकारी देते हैं…

9वीं और 10वीं में बच्चों को मिलेगा एडमिशन
इस विशेष आर्मी स्कूल में 9वीं और 10वीं क्लास में बच्चों को एडमिशन दिया जाएगा. इसके बाद यहां पर उन्हें आगे की पढ़ाई के साथ ही आर्मी में जाने के लिए भी तैयार किया जाएगा. यहां पर सिलेबस में अन्य विषयों के साथ आर्मी से जुड़ी बातों को भी विशेष तौर पर बताया जाएग. इसके साथ ही नियमित रूप से फिजिक​ल ट्रेनिंग भी कोर्स में शामिल रहेगी. खास बात यह है कि बच्चों से इस दौरान फीस नहीं ली जाएगी और उनकी पूरी शिक्षा फ्री में रहेगी.

यूं रहेगा एडमिशन प्रोसेस
इस स्कूल में एडमिशन के लिए दो फेज को पार करना होगा. पहले फेज में टेस्ट होगा. इस टेस्ट के जरिए बच्चे के एकेडमिक्स को परखा जाएगा. इसमें व्यावाहारि और स्कूल ज्ञान से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे. जो बच्चे इस टेस्ट में पास होंगे, उन्हें सैकंड फेज में इंटरव्यू से गुजरना होगा. इंटरव्यू के दौरान यह परख जाएगा कि बच्चा आर्मी में जाने के लिए शारीरिक और मानसिक तौर पर सक्षम है या नहीं.

इन डेट्स को कर लें नोट
यदि आप भी अपने बच्चे का इस स्कूल में एडमिशन करवाना चाहते हैं तो एडमिशन शेड्यूल की डेट्स नोट कर लें. 9वीं के लिए 27 मार्च को एप्टीट्यूड टेस्ट का आयोजन किया जाएगा. अगले दिन यानी 28 मार्च से 11वीं के टेस्ट के लिए एनरोलमेंट शुरू होंगे.

जानकारी के लिए बता दें कि मंगलवार को सीएम केजरीवाल ने घोषणा करते हुए कहा था, ’23 मार्च 1931 को ​भगत सिंह, राजगुरु (Rajguru) और सुखदेव (Sukhdev) को फांसी की सजा दी गई थी. यह शहादत का दिन था. 20 दिसम्बर 2021 को हमने घोषणा की थी कि दिल्ली में एक ऐसा स्कूल होगा, जहां स्टूडेंट्स को आर्मी के लिए तैयार किया जा सकेगा. इस स्कूल में 9वीं और 10वीं में बच्चों का एडमिशन होगा. इसके लिए 200 सीट होंगी और हमें 18000 एप्लीकेशंस मिल भी चुकी हैं. इस स्कूल में रिटायर्ड आर्मी आॅफिसर्स बच्चों को शिक्षा देंगे.’

दिल्ली के सैनिक स्कूल का नाम शहीद भगत सिंह के नाम पर रखा जाएगा। Press Conference | LIVE https://t.co/2VuaR7tgXT

गौरतलब है कि झरोदा कलां में 14 एकड़ जमीन पर ‘शहीद भगत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रिपरेटरी स्कूल’ बनाया जा रहा है. स्कूल के बारे में अरविंद केजरीवाल का कहना था कि इस स्कूल का मुख्य उद्देश्य सेना के लिए प्रतिभाशाली युवाओं का चयन करना है. जो बच्चे आर्मी में जाकर देश सेवा का जज्बा रखते हैं, उनके लिए यह स्कूल एक प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाएगा. स्कूल में डिफेंस और नेवी के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी. स्कूल में बच्चों को वह सुविधाएं दी जाएंगी जो सेना में जाने के लिए जरूरी होती हैं.

Tags: Delhi CM Arvind Kejriwal, Shaheed Bhagat Singh

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें