CM केजरीवाल ने कोरोना ड्यूटी में जान गंवाने वाले शिक्षक के परिवार को सौंपा 1 करोड़ का चेक

सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक शिक्षक के परिवार की मदद.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक शिक्षक के परिवार की मदद.

Coronavirus in Delhi: कोरोना संक्रमण के दौरान पने जान गंवाने वाले एक शिक्षक के परिवार की मदद के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) सामने आए हैं.

  • Share this:

दिल्ली. कोरोना (COVID-19) की दूसरी लहर की चपेट में आने से कई लोगों ने अपनी जान गंवा दी.  कई फ्रंट लाइन वर्कर्स की भी मौत इस संक्रमण की वजह से हो गई. ऐसे ही एक परिवार की मदद के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सामने आए हैं. कोविड में ड्यूटी के दौरान एक सरकारी स्कूल के शिक्षक की मौत हो गई. गुरुवार को उनके परिजनों से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुलाकात की. इस दौरान सीएम केजरीवाल ने परिवार की मदद के लिए 1 करोड़ का चेक भी दिया.

इधर, कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के लिए लोगों को सेंटरों के बाहर सड़कों पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा. स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने वैक्‍सीन सेंटरों की जगह बदलने की योजना बनाई है कि जल्‍द ही ओपेन स्‍पेस में वैक्‍सीनेशन कार्यक्रम चलाया जाएगा. जहां पर लोगों को सुविधाएं भी मिलेंगी. गाजियाबाद के सीएमओ ( ने बताया कि वैक्‍सीनेशन के लिए जगह चिन्हित करने का काम शुरू हो चुका है.गाजियाबाद  में सरकारी और प्राइवेट मिलाकर करीब 65 स्‍थानों पर वैक्‍सीनेशन  का काम चल रहा है. ये वैक्‍सीनेशन जिला अस्‍पताल, संयुक्‍त अस्‍पताल, सीएचसी, पीएचसी और हैल्‍थ पोस्‍ट पर किया जा रहा है. तमाम हैल्‍थ पोस्‍ट घनी आबादी के बीच हैं, जहां पर लोग वाहन से नहीं जा सकते हैं. बुजुर्ग लोगों को हैल्‍थ पोस्‍ट तक पैदल जाना पड़ता है. इसके बाद रोड पर ही लाइन लगाकर खड़े होना पड़ता है. यहां पर न बैठने की व्‍यवस्‍था होती है और न ही अन्‍य सुविधाएं मिलती हैं, इस वजह से लोगों को परेशानी हो रही थी.  इसी को ध्‍यान में रखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग घनी आबादी वाले वैक्‍सीनेशन सेंटरों को खुली जगह पर शिफ्ट करने की तैयारी है.

ब्लैक फंगस का यहां होगा इलाज

दिल्ली में जहां कोरोना संक्रमित मामले बढ़ने और ऑक्सीजन की किल्लत से दिल्ली जूझ रही है. ऐसे में अब ब्लैक फंगस (बीमारी के मामले लगातार सामने आने से और चिंता बढ़ गई है. दिल्ली में अब तक 185 मामले ब्लैक फंगस के आ चुके हैं. अब इनके इलाज के लिए दिल्ली सरकार  ने भी तैयारी की है. दिल्ली सरकार की ओर से ब्लैक फंगस बीमारी के इलाज के लिए तीन बड़े अस्पतालों में व्यवस्था की जा रही है. इसके लिए सरकार की ओर से मरीजों के लिए अलग से सेंटर बनाए जाएंगे. दिल्ली सरकार के जिन तीन बड़े अस्पतालों में ब्लैक फंगस बीमारी के लिए अलग से सेंटर स्थापित किए  जाने हैं, उनमें लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल , गुरु तेग बहादुर अस्पताल  और राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, ताहिर पुर प्रमुख रूप से शामिल है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज