होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /CM केजरीवाल ने की दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल की शुरुआत, इस तरह होंगे संचालित

CM केजरीवाल ने की दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल की शुरुआत, इस तरह होंगे संचालित

ऑनलाइन शिक्षण-प्रशिक्षण में साइबर अपराध को लेकर चिंताएं बढ़ी हैं. इससे कैसे निपटा जाएगा? डीएमवीएस के लिए मजबूत और सुरक्षित स्कूलिंग प्लेटफॉर्म विकसित किया गया है. (फोटो- Twitter/Arvind Kejriwal)

ऑनलाइन शिक्षण-प्रशिक्षण में साइबर अपराध को लेकर चिंताएं बढ़ी हैं. इससे कैसे निपटा जाएगा? डीएमवीएस के लिए मजबूत और सुरक्षित स्कूलिंग प्लेटफॉर्म विकसित किया गया है. (फोटो- Twitter/Arvind Kejriwal)

Delhi News: परीक्षा कैसे होगी? अगर ऑनलाइन होगी तो पारदर्शिता कैसे सुनिश्चित होगी? छात्र पाठ्यक्रम के दौरान विषय या अवध ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को ‘देश के पहले वर्चुअल स्कूल’ की शुरुआत की जिसमें देशभर से बच्चे 9वीं से 12वीं कक्षा में प्रवेश के पात्र होंगे. दिल्ली मॉडल वर्चुअल स्कूल (डीएमवीएस) किस तरह काम करेगा, उसका ब्योरा निम्न प्रकार है:

1. स्कूल में किस पाठ्यक्रम को संचालित किया जाएगा? डीएमएसवी दिल्ली स्कूल शिक्षा बोर्ड (डीबीएसई) से संबद्ध होगा और उसके पाठ्यक्रम को संचालित करेगा. अंकतालिका और प्रमाणपत्र भी डीबीएसई प्रदान करेगा.

2. क्या डीएमएसवी से उत्तीर्ण बच्चे स्नातक में प्रवेश ले सकेंगे? डीबीएसई की अंकतालिका और प्रमाणपत्र अन्य बोर्ड के समकक्ष होंगे और इसलिए छात्र स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के पात्र होंगे.

3. इस स्कूल का शुल्क कितना होगा? छात्रों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा.

4. पहले बैच में कितने छात्रों को लिया जाएगा? इस समय कोई संख्या तय नहीं है और बैच की संख्या छात्रों के पंजीकरण पर निर्भर करेगी.

5. कक्षाओं के लिए किस ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया जाएगा? कक्षाएं स्कूलनेट और गूगल द्वारा तैयार एक विशेष प्लेटफॉर्म पर संचालित होंगी.

6.कक्षाएं ऑनलाइन होने से उपस्थिति किस तरह दर्ज होगी? कक्षाओं के लिए इस्तेमाल ऑनलाइन प्लेटफॉर्म में उपस्थिति प्रणाली होगी.

7. परीक्षा कैसे होगी? अगर ऑनलाइन होगी तो पारदर्शिता कैसे सुनिश्चित होगी? छात्र पाठ्यक्रम के दौरान विषय या अवधारणा आधारित मूल्यांकन चुन सकते हैं. ये क्षमता आधारित मूल्यांकन होगा जहां विद्यार्थियों के नकल करने की गुंजाइश नहीं के बराबर होगी.दो टर्म-एंड परीक्षाएं होंगी जिसके लिए छात्रों को दिल्ली आना होगा. ये परीक्षाएं दिल्ली में निर्धारित केंद्रों पर होंगी जहां छात्र कम्प्यूटर आधारित परीक्षा (सीबीटी) दे सकते हैं.

8. क्या वर्चुअल स्कूल के लिए शिक्षकों की भर्ती अलग से की जाएगी? पहले साल में दिल्ली के सरकारी स्कूलों से एक कठिन स्क्रीनिंग प्रक्रिया के माध्यम से शिक्षकों का चयन किया गया है. उन्हें विशेष प्रशिक्षण दिया गया है.

9. ऑनलाइन शिक्षण-प्रशिक्षण में साइबर अपराध को लेकर चिंताएं बढ़ी हैं.इससे कैसे निपटा जाएगा? डीएमवीएस के लिए मजबूत और सुरक्षित स्कूलिंग प्लेटफॉर्म विकसित किया गया है.

10. कौन से विषय पढ़ाये जाएंगे? कक्षा 9 में छह विषय होंगे: विज्ञान, हिंदी, गणित, अंग्रेजी, सामाजिक विज्ञान और कम्प्यूटर साइंस. पढ़ाई अंग्रेजी और हिंदी दोनों माध्यम में होगी.

Tags: Delhi CM Arvind Kejriwal, Delhi news, Delhi School

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें