सीएम केजरीवाल ने कहा-18 साल से ऊपर के सभी लोगों को लगायी जाए कोरोना वैक्सीन, नियम लचर बनाने होंगे!

दिल्ली को वैक्सीनेशन करने का काम युद्ध स्तर पर बढ़ाने की बेहद जरूरत है.

दिल्ली को वैक्सीनेशन करने का काम युद्ध स्तर पर बढ़ाने की बेहद जरूरत है.

दिल्ली सरकार चाहती है कि 18 साल से कम वालों को वैक्सीन नहीं लगाई जाए, यह तय किया जाए. बाकी सभी के लिए वैक्सीन खोल देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सिर्फ मेडिकल कंडीशन और 18 साल से नीचे वालों को वैक्सीन नहीं दी जाए. उन्होंने कहा कि अगर वैक्सीन की दिल्ली सरकार को पर्याप्त सप्लाई हो जाती है तो अगले 3 माह में हम पूरी दिल्ली को वैक्सीनेशन करने का काम पूरा कर देंगे. अब इसको युद्ध स्तर पर बढ़ाने की बेहद जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 9:38 PM IST
  • Share this:
नई द‍िल्‍ली. दिल्ली में कोरोना के मामलों में थोड़ी बढ़ोतरी दर्ज की गई है. पिछले साल जून, सितंबर और नवंबर में 6000 से 8000 केसेज आए थे. लेकिन कुछ हफ्तों के दौरान मामले 100 तक ही आ रहे थे. लेकिन अब दो-तीन दिनों से मामलों में बढ़ोतरी हुई और 500 से ऊपर रिकॉर्ड किए गए हैं.

इन सभी मामलों को लेकर आज दिल्ली सरकार ने एक रिव्यू मीटिंग की है. सरकार इसको लेकर चिंतित है. लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है. पहले 6-7 हजार केस होते थे. अब सिर्फ 500 तक ही मामले आ रहे हैं. सरकार इन सभी को लेकर भी सख्त कदम उठाने की तैयारी कर रही है. सभी विशेषज्ञों की राय भी ले रहे हैं. केंद्र सरकार के विशेषज्ञों से भी राय ले रहे हैं कि किस तरीके के कदम और उठाए जाएं.





18 साल से कम वालों को वैक्सीन नहीं, बाकी सभी के लि‍ये खोल देनी चाहिए


उन्होंने कहा कि वैक्सीन बनाने में डॉक्टर ने कड़ी मेहनत की है. वैक्सीनेशन के लिए योग्यता निर्धारित करना कुछ ज्यादा सख्त है. दिल्ली सरकार चाहती है कि 18 साल से कम वालों को वैक्सीन नहीं लगाई जाए, यह तय किया जाए. बाकी सभी के लिए वैक्सीन खोल देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि सिर्फ मेडिकल कंडीशन और 18 साल से नीचे वालों को वैक्सीन नहीं दी जाए. उन्होंने कहा कि अगर वैक्सीन की दिल्ली सरकार को पर्याप्त सप्लाई हो जाती है तो अगले 3 माह में हम पूरी दिल्ली को वैक्सीनेशन करने का काम पूरा कर देंगे. अब इसको युद्ध स्तर पर बढ़ाने की बेहद जरूरत है.


Youtube Video






गाइडलाइन को सख्ती से लागू करने की जरूरत


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मामले कम होने के बाद थोड़ी ढील आ गई थी. ट्रेसिंग, ट्रैकिंग और आइसोलेशन के सिस्टम को और सख्ती के साथ लागू करेंगे. सर्विलांस को भी सख्ती के साथ लागू करेंगे. मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग आदि को और सख्ती से लागू करने की जरूरत है.




मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि जनवरी माह से वैक्सीन लगाने का काम चल रहा है. वैक्सीन कोरोना से बचने का एक कारगर उपाय है. वैक्सीन आ गई है. वहीं दूसरी तरफ कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं तो यह ठीक नहीं है. दिल्ली में हर रोज 30 से 40000 लोगों को वैक्सीनेशन किया जा रहा है.




500 सेंटरों पर ही वैक्सीनेशन का काम चल रहा, डबल करने जा रहे 


उन्होंने कहा कि सिस्टम में कमियों को दूर किया जाएगा जिससे कि और ज्यादा संख्या वैक्सीनेशन को बढ़ाया जा सके. वैक्सीनेशन को लेकर किसी प्रकार का भ्रम नहीं होना चाहिए. मैं स्वयं और मेरे माता-पिता भी वैक्सीन लगवा चुके हैं. सभी को आकर वैक्सीन लगवानी चाहिए. दिल्ली सरकार 30 से 40,000 को बढ़ाकर एक से सवा लाख वैक्सीनेशन की क्षमता करने जा रही है. अभी 500 सेंटरों पर ही वैक्सीनेशन का काम चल रहा है. इसको हम डबल करने जा रहे हैं.




केजरीवाल ने कहा कि आने वाले समय में इनकी संख्या 1000 से ऊपर हो जाएगी. वही इसको लगवाने के समय को भी बढ़ाकर सुबह 9:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक किया जा रहा है.




वैक्सीनेशन के लिए सेंटर खोलने की गाइडलाइंस काफी सख्त


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से कोरोना वैक्सीनेशन के लिए सेंटर खोलने की गाइडलाइंस काफी अभी सख्त हैं. इसको थोड़ा लचर बनाने की जरूरत है. इसके लिए हम केंद्र सरकार को पत्र भी लिख रहे हैं. अगर ऐसा किया जाएगा तो सेंटर को खोलने में आसानी होगी. अभी कई सेंटर 24 घंटे चल रहे हैं. सरकार की इच्छा है कि और ज्यादा 24 घंटे सेंटर खोले जाएं.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज