सीएम केजरीवाल ने कहा-अस्पतालों को कोविड डेडिकेटिड बनाए MCD, सरकार फंड देने को तैयार!

दिल्ली सरकार ने बेड्स की संख्या को बढ़ाने के लिए कवायद भी तेज कर दी गई है.  (फाइल फोटो.)

दिल्ली सरकार ने बेड्स की संख्या को बढ़ाने के लिए कवायद भी तेज कर दी गई है. (फाइल फोटो.)

सीएम अरविंद केजरीवाल ने अफसरों को निर्देश दिया है कि कोविड अस्पताल बनाने के लिए दिल्ली सरकार से एमसीडी जो भी मदद मांगेगी, वो दी जाए. अगर वह फंड भी मांगे, तो बिना देरी के उनको दे दिया जाए. इसमें कोई कोताही और राजनीति नहीं होनी चाहिए. सरकार की तरफ से हर संभव मदद उपलब्ध कराई जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 16, 2021, 12:06 PM IST
  • Share this:


नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) के मरीजों का आंकड़ा हर रोज तेजी से बढ़ रहा है. दिल्ली में एक्टिव मरीजों की संख्या अब 54,000 को भी पार कर गई है. इसके चलते दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने बेड्स की संख्या को बढ़ाने के लिए कवायद भी तेज कर दी गई है.

दिल्ली सरकार की ओर से केंद्र सरकार (Central Government) से भी अनुरोध किया है कि वह अपने अधीनस्थ अस्पतालों में 2,000 बेड और उपलब्ध करवाए. कोविड मरीजों के लिए बेड की क्षमता बढ़कर 20,000 तक हो जाएगी.

दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि मौजूदा समय में 15,048 बेड कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध हैं. इनमें से 5,000 से ज्यादा बेड अभी खाली पड़े हुए हैं.
मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर बेड की संख्या पर्याप्त करने पर काम किया जा रहा है. इसमें केंद्र सरकार के अस्पतालों मेें बेड की संख्या में बढ़ोतरी करना बेहद जरूरी हो गया.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एमसीडी के हिंदुराव अस्पताल और स्वामी दयानंद अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल घोषित किया जाए. एमसीडी भी इन अस्पतालों को कोविड घोषित करने के लिए तैयार है.

कोविड अस्पताल बनाने के लिए एमसीडी फंड भी मांगे, तो भी देरी ना हो 



इसके अलावा सीएम ने यह भी कहा है कि कोविड अस्पताल बनाने के लिए दिल्ली सरकार से एमसीडी जो भी मदद मांगेगी, वो दी जाए. अगर वह फंड भी मांगे, तो बिना देरी के उनको दे दिया जाए. इसमें कोई कोताही और राजनीति नहीं होनी चाहिए.

हिंदुराव अस्पताल के 900 बेड कोविड मरीजों के लिए आरक्षित करें

हिंदुराव अस्पताल प्रबंधन को कहा जाए कि पूरे 900 बेड को कोविड मरीजों के लिए आरक्षित कर दिया जाए. हमसे जो मदद की जरुरत है, वे बताएं, हमारी तरफ से हर संभव मदद उपलब्ध कराई जाएगी. लेकिन दोनों अस्पतालों को पूरी क्षमता के साथ प्रभावी तरीके से कोविड अस्पताल बनाया जाए.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज