गृहमंत्री अमित शाह से मिले मनोहर लाल खट्टर, हिसार विवाद पर दिया ये बड़ा बयान

गृहमंत्री अमित शाह से मिले मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

गृहमंत्री अमित शाह से मिले मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

कृषि कानून के विरोध को लेकर केंद्र और भाजपा शासित राज्य सरकारें किसानों के निशाने पर हैं. इसी बीच गृहमंत्री अमित शाह ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ अपने आवास पर बैठक की.

  • Share this:

नई दिल्ली. कृषि कानून के विरोध को लेकर केंद्र और भाजपा शासित राज्य सरकारें किसानों के निशाने पर हैं. इसी बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manohar Lal Khattar )

सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मिलने उनके आवास पर पहुंचे. बैठक के बाद सीएम खट्टर ने कहा कि हिसार में किसानों के विरोध पर विस्तार से गृहमंत्री को जानकारी दी गई है. सारा विषय उनके सामने रख दिया गया. वह इस बात से सहमत हैं कि इस प्रकार के काम का विरोध करना उचित नहीं है. एक दिन पहले ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर हिसार में आईसीयू बेड के अस्थाई अस्पताल का उद्घाटन करने पहुंचे थे, जहां उन्हें किसानों का भारी विरोध झेलना पड़ा था. जिसके बाद लाठी चार्ज किया गया.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि काफी लंबे समय से दोनों शीर्ष नेताओं से भेंट नहीं हुई थी, इसीलिए वह यहां पहुंचे थे. बैठक के दौरान कोराना पर बात हुई है. इसके साथ ही आने वाले समय में इससे निपटने की तैयारियों को लेकर चर्चा हुई है. खट्टर ने कहा कि इस दौरान उन्होंने किसान आंदोलन को लेकर जो भी चल रहा है उसके बारे में भी अमित शाह को जानकारी दी है. इस विषय में विचार विमर्श के बाद जिस तरह से आगे बढऩा है, वह हमें बताया जाएगा हम आगे उसी तरह से बढ़ेंगे.

हिसार विवाद को लेकर भी मुख्यमंत्री ने अमित शाह से चर्चा होने की बात कही है. उन्होंने कहा कि सारा विषय उनके सामने रख दिया गया. वह इस बात से सहमत हैं कि इस प्रकार के काम का विरोध करना उचित नहीं है. केंद्रीय नेतृत्व को यह भी जानकारी दी गई कि कल शाम को किस तरह से दोनों पक्षों के बीच बातचीत हुई है. इसके बाद आगे के लिए उन लोगों ने विरोध स्थगित कर दिया है. हरियाणा सरकार की तरफ से किसानों के लिए वैक्सीनेशन के इंतजाम की भी जानकारी केंद्रीय स्तर पर दी गई है. सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि धैर्य रखकर हम आगे बढ़ेंगे और तमाम चीजों का कोई न कोई हल निकलेगा. वहीं ब्लैक फंगस को लेकर भी हमको बताया गया है कि सरकार दवाई इंपोर्ट कर रही है. उसके बाद डिस्ट्रीब्यूशन का प्लान बनेगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज