दिल्ली पहुंचे नीतीश कुमार, Modi Cabinet में JDU के शामिल होने पर बोले ये बड़ी बात...

केंद्रीय कैबिनेट विस्तार में जेडीयू को लेकर चर्चा करने की बात पर नीतीश ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं थी

मोदी कैबिनेट में JDU के शामिल होने की चर्चा पर विराम लगाते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि वे दिल्ली आंख के इलाज के लिए आए हैं और प्रधानमंत्री से मिलने का कोई कार्यक्रम नहीं है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्रीपरिषद के विस्तार की संभावनों और चल रही अटकलों के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) दिल्ली पहुंच गए हैं. नीतीश कुमार के दिल्ली जाने के कार्यक्रम के साथ ही अटकलों का बाजार गर्म हो चुका था कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य शीर्ष नेताओं से मिलेंगे. साथ ही चर्चा थी कि ये बैठकें जेडीयू के केंद्रीय कैबिनेट में शामिल होने को लेकर होंगी. हालांकि दिल्ली पहुंचे नीतीश कुमार ने इन सभी अटकलों और चर्चाओं पर विराम लगाते हुए कहा कि वे तो यहां पर अपनी आंख के इलाज के लिए आए हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री से मुलाकात की कोई बात ही नहीं है. साथ ही उन्होंने ये साफ किया कि कैबिनेट मीटिंग में शामिल होने जैसी भी कोई बात नहीं है.

नीतीश कुमार ने इस दौरान कहा कि हम लोग बिहार में अपना काम कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि हम (बीजेपी) साथ में हैं और किसी भी तरह का कोई विवाद नहीं है.

हालांकि इससे पहले भी जदयू की ओर से यही कहा जा रहा था कि सीएम नीतीश की इस यात्रा का मंत्रिपरिषद के विस्तार से कोई लेना-देना नहीं है. मुंगेर से जदयू के सांसद व पार्टी के कद्दावर नेता ललन सिंह ने स्पष्ट तौर पर कहा था कि नीतीश कुमार के इस यात्रा का केंद्रिय मंत्रीमंडल विस्तार से कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने यह भी बताया था कि नीतीश कुमार दिल्ली अपनी आंखों का इलाज कराने जा रहे हैं.
ललन सिंह ने सियासी अटकलबाजियों को खारिज करते हुए कहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार प्रधानमंत्री का विशेषाधिकार है. इस पर किसी का हस्तक्षेप नहीं हो सकता है. उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार में जदयू का शामिल होना अभी केवल सियासी अटकलबाजी मात्र है और अटकलबाजी पर राजनीति नहीं होती है. हालांकि इस मसले पर जदयू के दिग्गज नेताओं के भी अलग-अलग बयान सामने आ रहे थे.

डॉक्टर से मिलेंगे
नीतीश ने साफ किया कि वे केवल और केवल अपनी आंख के इलाज के लिए दिल्ली आए हैं. उन्होंने बताया कि वे जल्द ही इसके लिए डॉक्टर से मिलेंगे. उनकी आंख में पिछले कुछ समय से समस्या थी और वे उसी के चेकअप व इलाज के लिए पहुंचे हैं. वहीं उन्होंने अपना मकसद साफ करते हुए कहा कि वे बिहार के लिए काम कर रहे हैं और अभी सिर्फ बाढ़ पर ध्यान देना है. समय से पहले ही बारिश हो गई है.

कोरोना का कल से अभियान
उन्होंने जानकारी दी कि बिहार में कोरोना को लेकर बुधवार से एक बार फिर अभियान शुरू किया जाएगा. इस दौरान 18 साल से ऊपर के लोगों को टीका लगाया जाएगा. उन्होंने कहा कि उनका लक्ष्य है कि छह माह में 6 करोड़ लोगों को कोरोना का टीका लगा दिया जाए. वहीं जनसंख्या नियंत्रण पर भी उन्होंने कहा कि पहले जनसंख्या ज्यादा थी लेकिन अब लोगों को शिक्षित किया जा रहा है. सूबे में लड़कियों की शिक्षा पर खास ध्यान दिया जा रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.