अपना शहर चुनें

States

दिल्ली में टूटा 10 साल का रिकॉर्ड, 5 डिग्री सेल्सियस से भी कम हुआ तापमान

दिल्ली में तापमान और नीचे जा सकता है
दिल्ली में तापमान और नीचे जा सकता है

Delhi weather news: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को भी ठंडी हवाएं चलने का अनुमान है. मौसम विभाग के अनुसार आज भी राज्य में शीतलहर सरीखी स्थिति रह सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 18, 2020, 7:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi weather news) में गुरुवार ‘ठंडा दिन’ रहा जहां अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री नीचे 15.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह इस मौसम का अब तक का सबसे कम तापमान है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी. ‘ठंडा दिन’ उसे कहते हैं जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से कम होता है और अधिकतम तापमान सामान्य से 4.4 डिग्री सेल्सियस कम होता है. गिरते तापमान के साथ दिल्ली ने गुरुवार को ठंड के 10 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया. बता दें साल 2011 में 17 दिसंबर को न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस था.

वहीं सफदरजंग अब्ज़र्वटोरी में न्यूनतम तापमान 4.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया क्योंकि पश्चिमी हिमालय से उठीं बर्फीली हवाएं लगातार दिल्ली में चल रही हैं. आयानगर और रिज मौसम स्टेशनों में न्यूनतम तापमान क्रमश: 3.8 डिग्री सेल्सियस और 3.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

 तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक भी जा सकता है
वहीं अगर बात बीते साल की करें तो 28 दिसंबर को यहां  तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस तक था. इसके साथ ही साल 2013 में भी 23 दिसंबर को तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस तक चला गया ता. इसके साथ ही साल 2014 और 2018 के दिसंबर में भी तापमान 3 डिग्री के नीचे जा चुका था. ऐसे में इस बार के ठंड के हिसाब से अनुमान है कि तापमान 2 डिग्री सेल्सियस तक भी जा सकता है.
दिल्ली में गुरुवार को हवाओं की भी रफ्तार तेज रही. मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में बीते 24 घंटे में 18 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली जिसके चलते तापमान में और गिरावट दर्ज की गई. माना जा रहा है कि शुक्रवार को भी स्थितियां ऐसी ही रहेंगी. हालांकि शनिवार को हवा की रफ्तार कम होने के आसार हैं लेकिन ठंड इसी तरह जारी रह सकती है.



शीत लहर मैदानी इलाकों की ओर बढ़ रहा
आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केन्द्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण पश्चिमी हिमालय में भारी बर्फबारी हुई और अब शीत लहर के मैदानी इलाकों की ओर बढ़ने की वजह से तापमान में गिरावट आ रही है. आईएमडी मैदानी इलाकों के लिए शीत लहर की घोषणा तब करता है जब न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या इससे नीचे हो और लगातार दो दिन तक सामान्य से 4.5 डिग्री सेल्सियस कम हो.

उन्होंने कहा,‘दिल्ली जैसे छोटे इलाके के लिए शीत लहर की घोषण तब भी की जा सकती है जब उक्त स्थितियां एक दिन के लिए भी बन जाएं.' शहर की वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में दर्ज की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज