दुर्घटना पर मुआवजा और शिक्षा-शादी के लिए मिलेगी आर्थिक मदद, जानें दिल्‍ली सरकार की नई योजना
Delhi-Ncr News in Hindi

दुर्घटना पर मुआवजा और शिक्षा-शादी के लिए मिलेगी आर्थिक मदद, जानें दिल्‍ली सरकार की नई योजना
मजदूरों के लिए दिल्‍ली सरकार ने मजदूर निर्माण योजना की शुरूआत की है. (फाइल फोटो)

दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) की इस योजना (Policy) का लाभ 18 वर्ष के युवा से लेकर 60 वर्ष के बुजुर्ग तक सभी को मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 4:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. आर्थिक संकट का सामना कर रहे मजदूरों की मदद के लिए दिल्‍ली सरकार (Delhi Government) सामने आई है. दिल्‍ली सरकार ने ‘मजूदर निर्माण’ नामक एक नई योजना की शुरुआत की है. इस योजना के तहत, दिल्‍ली सरकार दुर्घटना में जान गंवाने वाले मजदूर को 2 लाख रुपये का मुआवजा देगी, बल्कि शादी और शिक्षा के लिए भी आर्थिक मदद देगी. योजना का लाभ पाने के लिए मजदूरों को रजिस्‍ट्रेशन कराना होगा.

दिल्‍ली सरकार के श्रम मंत्री गोपाल राय के अनुसार, श्रमिक बोर्ड के जरिए निर्माण मजदूर रजिस्ट्रेशन कैंप की शुरुआत की है. रजिस्‍ट्रेशन कराने वाले मजदूर को बेटे की शादी के लिए 35 हजार और लड़कियों की शादी के लिए 51 हजार रुपये की आर्थिक मदद दिल्ली सरकार देगी. इतना ही नहीं, बच्चों की शिक्षा के लिए 500 रुपये की आर्थिक मदद भी दी जाएगी. वहीं, किसी मजदूर के घर में दुर्घटना से मौत हो जाए, तो परिवार को 2 लाख रुपये आर्थिक मुआवजा दिया जाएगा.

रजिस्‍ट्रेशन के लिए स्‍पेशल कैंप
दिल्ली सरकार ने मजदूरों को मदद देने के लिए श्रमिक बोर्ड के जरिए निर्माण मजदूर रजिस्ट्रेशन कैंप की शुरुआत की है. दिल्ली की 70 विधानसभाओं में सरकार की तरफ कैंप लगाया जा रहा है. इन कैंप की निगरानी वहां के स्थानीय विधायक खुद कर रहे हैं. उन्‍होंने बताया कि दिल्ली में काम करने वाले मजदूर 11 सितंबर तक निर्माण कार्य से जुड़े मजदूर घर बैठे भी अपना रजिस्ट्रेशन  www.edistrict.delhigovt.nic.in पर करा सकते हैं.
रजिस्ट्रेशन के बाद किया जाएगा वेरिफिकेशन


दिल्ली सरकार के निर्माण मजदूर रजिस्ट्रेशन कैंप के जरिए 18-60 साल तक के मजदूर अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. इसके लिए, उस मजदूर के पास 90 दिन काम करने का प्रमाण पत्र, फोटो, स्थानीय आईडी प्रमाण, बैंक खाता संख्या और आधार कार्ड होना अनिवार्य होगा. कैंप में फार्म भरने के बाद कागज पूरे होने पर वेरिफिकेशन किया जाएगा. कोरोना काल में 70 हजार निर्माण मजदूरों ने ऑनलाइन अप्लाई किया था. जिन्‍हें 10-10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता राशि दी गई थी.

कौन-कौन से मजदूरों को मिलेगी सुविधा
बढ़ई, बार बाइंडर, बेलदार, कुली, मजदूर, मकान/घर बनाने वाले, चौकीदार, कंक्रीट मिश्रण करने वाले, क्रेन ऑपरेटर, इलेक्ट्रिशियन, फीटरमैन, लोहार, सफेदी करने वाले पेंटर, प्लंबर, पीओपी लेबर, पंप ऑपरेटर, राजमित्री, योजना का लाभ उठाने के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading