गर्मी आने से पहले शुरू हुआ पानी पर घमासान, MLA ने जल बोर्ड दफ्तर का किया घेराव, अधिकारी हुये कैद!

भाजपा कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र में गंदे पानी की सप्लाई एवं जलापूर्ति में कटौती के विरोध में धरना दिया.

भाजपा कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र में गंदे पानी की सप्लाई एवं जलापूर्ति में कटौती के विरोध में धरना दिया.

गर्मी आने से पहले दिल्ली में पानी की किल्लत होने शुरू हो गई है. इसको लेकर विधायक अब धरने पर बैठने लगे हैं और क्षेत्रीय जल बोर्ड दफ्तरों का घेराव भी कर रहे हैं. रोहताश नगर विधानसभा क्षेत्र के विधायक जितेंद्र महाजन के नेतृत्व में आज भाजपा कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र में गंदे पानी की सप्लाई एवं जलापूर्ति में कटौती के विरोध में धरना दिया. क्षेत्रीय अधिशासी अभियन्ता का घेराव भी किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 7:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. गर्मियां आने से पहले ही अब दिल्ली में पानी की किल्लत होने लगी है. इसको लेकर लगातार दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) में जहां विधायक पानी की समस्या और गंदे पानी की शिकायत को लेकर मामला उठाते रहे हैं. वहीं, अब BJP विधायकों ने अपने क्षेत्र में स्थानीय जनता के साथ मिलकर जल बोर्ड दफ्तरों पर धरना प्रदर्शन कर विरोध जताना शुरू कर दिया है.

रोहताश नगर (Rohtas Nagar) विधानसभा क्षेत्र के विधायक जितेंद्र महाजन (Jitender Mahajan) के नेतृत्व में आज भाजपा कार्यकर्ताओं ने क्षेत्र में गंदे पानी की सप्लाई एवं जलापूर्ति में कटौती के विरोध में धरना दिया. पूर्वी दिल्ली के जी.टी.बी. एन्क्लेव स्थित दिल्ली जल बोर्ड कार्यालय पर धरना देते हुये क्षेत्रीय अधिशासी अभियन्ता का घेराव भी किया. इससे पहले भी वह भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ पानी की समस्या को लेकर जल बोर्ड दफ्तर का घेराव कर चुके हैं.

धरने में चारों क्षेत्रीय निगम पार्षद प्रवेश शर्मा, अजय शर्मा, सुमनलता नागर एवं रीना महाजन और नवीन शाहदरा जिला भाजपा महामंत्री जितेंद्र कुमार के आलावा सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे. प्रदर्शनकारी कार्यकर्ता बैनर, पोस्टर, थाली, चम्मच लेकर पहुंचे हुए थे और गंदे पानी की बोतल भी अधिकारियों को दिखाने के लिए साथ में लेकर पहुंचे.

महाजन ने कहा है कि ऐसा लगता है केजरीवाल सरकार रोहताश नगर की जनता को भाजपा का विधायक चुनने सजा दे रही है.
उन्होने कहा कि यदि अगले कुछ दिन में समस्या का समाधान नही किया गया तो हम जल बोर्ड मुखालय का घेराव करेंगे. आज बाबरपुर, मुस्तफाबाद, सीमापुरी और गोकलपुर विधान सभा में भी पानी की किल्लत को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जल बोर्ड दफ्तरों पर प्रदर्शन किया.

मुख्यमंत्री करते रहे हैं 24 घंटे पानी मुहैया कराने का दावा

इस बीच देखा जाए तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) लगातार यह दावा करते रहे हैं कि दिल्ली में 24 घंटे सातों दिन पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करेंगे. लेकिन दिल्ली के तमाम इलाकों में अभी पीने के पानी की पर्याप्त सप्लाई नहीं हो पा रही है. इसके चलते आम जनता के साथ-साथ क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि भी परेशान हैं. आने वाले समय में गर्मियों के दौरान पानी की समस्या और भीषण हो जाएगी.



सत्ता और विपक्ष दोनों के सदस्य उठाते रहते हैं सदन में पानी की समस्या का मामला

बजट सत्र के दौरान विधानसभा में 280 के तहत चर्चा के दौरान सदस्यों ने पानी की समस्या को सदन के समक्ष उठाया था. सत्तापक्ष के विधायक अखिलेश पति त्रिपाठी (Akhilesh Pati Tripathi) ने मॉडल टाउन में पानी की समस्या का मामला उठाया था. उन्होंने सदन को अवगत कराते हुए कहा कि कहा था कि उनके इलाके में काफी समय से पानी की सप्लाई की समस्या बनी हुई है.

इसके अलावा सत्ता पक्ष के अन्य सदस्य प्रहलाद सिंह साहनी (Prahlad Singh Sahni) ने भी चांदनी चौक विधानसभा में पानी की समस्या का मामला उठाते हुए कहा था कि रमजान, बैसाखी आने वाली है. उनके क्षेत्र में पानी की समस्या को शार्ट नोटिस में दूर कराने का आग्रह किया था और उन्होंने झुग्गी झोपड़ी वालों को भी पानी मुहैया कराने की मांग की थी.

इसके अलावा विश्वास नगर से BJP विधायक ओपी शर्मा (OP Sharma), गांधी नगर से अनिल कुमार बाजपेई (Anil Bajpai) और करावल नगर से मोहन सिंह बिष्ट (Mohan Singh Bisht) और घोंडा से अजय महावर (Ajay Mahawar) भी सदन में लगातार क्षेत्र में पानी की समस्या को उठाते रहे हैं. जितेंद्र महाजन भी रोहताश नगर विधानसभा में पानी की समस्या का मामला सदन के समक्ष लगातार उठाते रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज