• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • CONGRESS ALLEGATION ON AAP GOVT SAID 250 CORONA WARRIORS HAVE LOST THEIR LIVES ONLY 15 GET ONE CRORE

कांग्रेस का AAP सरकार पर आरोप, कहा- 250 कोरोना योद्धाओं की जा चुकी जान, सिर्फ 15 को मिले एक करोड़!

दिल्ली सरकार अभी तक सिर्फ 15 ही कोरोना योद्धाओं को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि दे पाई है. (File Photo)

Covid Deaths in Delhi: कांग्रेस ने आरोप लगाया कि दिल्ली में सिर्फ 15 कोरोना यौद्धाओं को ही सरकार ने घोषणा अनुसार 1 करोड़ का मुआवजा दिया है, जिनको मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने पिक एंड चूज की नीति के आधार पर प्रतीकात्मक रुप से चिन्हित लोगों को यह सम्मान राशि दी गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Corona virus) से अब तक डॉक्टर्स, शिक्षक, निगम सफाई कर्मचारी और दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के जवान समेत करीब 250 से ज्यादा कोरोना योद्धाओं (Corona warriors) की जान जा चुकी है. लेकिन दिल्ली सरकार (Delhi Government) अभी तक सिर्फ 15 ही कोरोना योद्धाओं को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि दे पाई है.

    दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी (DPCC) के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने आरोप लगाया कि कोरोना यौद्धाओं की मृत्यु पर 1 अप्रैल, 2020 को पीड़ित परिवारों की मदद के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की 1 करोड़ की मुआवजे की घोषणा खोखली साबित हुई है.

    कोरोना महामारी के भारी संकट में दिल्ली सरकार ने दिल्ली में सिर्फ 15 कोरोना यौद्धाओं को ही अपनी घोषणा के अनुसार 1 करोड़ का मुआवजा दिया है, जिनको मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने पिक एंड चूज की नीति के आधार पर प्रतीकात्मक रुप से चिन्हित लोगों को यह सम्मान राशि दी गई है.



    उन्होंने कहा कि भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम (MCD) ने भी कोरोना यौद्धाओं को मुआवजे के रुप में 10 लाख रुपये देने की घोषणा की थी, जिसके लिए आज तक कोई पहल नही हुई.

    उन्होंने कहा कि दिल्लीवासियों के प्रति मुख्यमंत्री, उप-राज्यपाल और केन्द्रीय गृहमंत्री की जिम्मेदारी बनती है कि वे दिल्ली में कोविड प्रभावित लोगों व कोविड ड्यूटी के दौरान शहीद हुए है, उन्हें घोषित मुआवजा और परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए.

    उन्होंने कहा कि जब इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (Indian Medical Association) ने दूसरी लहर में सरकारी डाक्टरों के 101 डाक्टरों के शहीद होने की सूची जारी की है. दिल्ली नगर निगम 94 कर्मचारियों जिनमें 49 सफाई कर्मचारी है, शिक्षा विभाग ने लगभग 100 शिक्षकों तथा दिल्ली पुलिस ने 32 कर्मचारियों की कोरोना ड्यूटी के दौरान शहीद होने की पुष्टि की है.

    लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री ने 14 महीनों से महामारी का सामना कर रहे कर्मचारियों में दिल्ली में सिर्फ 15 कर्मचारियों की कोरोना ड्यूटी के दौरान मृत्यु पर मुआवजा दिया है. अनिल कुमार ने मांग की कि दिल्ली सरकार कोरोना यौद्धाओं जिनकी कोरोना के चलते मृत्यु हुई उनकी अधिकारिक सूची जारी करे.
    उधर, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कैप्टन खविंदर सिंह ने भी कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना योद्धाओं को सम्मान देते हुए तुरंत उनके परिजनों को एक करोड़ की आर्थिक सहायता राशि प्रदान करें. इससे पीड़ित परिवार को कुछ मदद मिल सकेगी. दिल्ली सरकार को इस मामले में अब बिल्कुल भी देरी नहीं करनी चाहिए.
    Published by:Bhupender Panchal
    First published: