• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Congress का केजरीवाल पर पलटवार, कहा-पंजाब में दिल्ली से सस्ती मिल रही बिजली, CM फैला रहे भ्रम

Congress का केजरीवाल पर पलटवार, कहा-पंजाब में दिल्ली से सस्ती मिल रही बिजली, CM फैला रहे भ्रम

पंजाब में आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने पर 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त देने के वादे पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने सीएम केजरीवाल पर पलटवार क‍िया है.

पंजाब में आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने पर 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त देने के वादे पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस ने सीएम केजरीवाल पर पलटवार क‍िया है.

Congress attack on Kejriwal: दिल्ली कांग्रेस (Congress) ने आरोप लगाया है कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली में बिजली सस्ती करने का उदाहरण देकर पंजाब में 300 यूनिट तक बिल माफ करने की बात कर रहे हैं. जबकि दिल्ली में प्रति यूनिट बिजली दर 6.79 रुपये है जबकि पंजाब में प्रति यूनिट 6.51 रुपये है, तो फिर दिल्ली में सस्ती बिजली कहां दे रहे हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने पंजाब में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के सत्ता में आने पर 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त (Free Electricity) देने का वादा किया है. इस पर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस (Congress) ने पलटवार करते हुए कहा है कि सीएम केजरीवाल सिर्फ झूठे वादे और भ्रम फैलाने का काम कर रहे हैं. पंजाब में दिल्ली से सस्ती बिजली लोगों को पहले ही मिल रही है. बावजूद इसके सीएम दिल्ली में महंगी बिजली होने का भ्रम फैला रहे हैं.

    प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार (Chaudhary Anil Kumar) ने आरोप लगाया है कि अब आम आदमी पार्टी (AAP) के मुखिया अरविन्द केजरीवाल दिल्ली की बिजली समस्याओं को अधर में छोड़ पंजाब में बिजली बिल माफ करने की बात करके वहां जनता को गुमराह कर रहे हैं.

    यह भी पढ़ें: पंजाब में अरविंद केजरीवाल का वादा- सरकार बनी तो 300 यूनिट बिजली फ्री, पुराने सारे बिल माफ

    उन्होंने आरोप लगाया कि केजरीवाल दिल्ली में बिजली सस्ती करने का उदाहरण देकर पंजाब में 300 यूनिट तक बिल माफ करने की बात कर रहे हैं. जबकि दिल्ली में प्रति यूनिट बिजली दर 6.79 रुपये है जबकि पंजाब में प्रति यूनिट 6.51 रुपये है, तो फिर दिल्ली में सस्ती बिजली कहां दे रहे हैं.

    उन्होंने यह भी कहा कि बिजली क्षमता बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने पिछले 7 सालों में कोई कदम नहीं उठाया. पीक डिमांड 62,00 मेगावाट से बढ़कर 6540 मेगावाट हो गई है.

    यह भी पढ़ें: पंजाब विधानसभा चुनाव में AAP का फ्री बिजली का वादा, कांग्रेस-शिअद को लग सकता है झटका

    प्रदेश अध्यक्ष ने सीएम केजरीवाल (CM Kejriwal) से यह भी पूछा कि दिल्ली में किसानों (Farmers) को मुफ्त बिजली क्यों नहीं दे रहे हैं? दिल्ली में व्यापारिक संस्थानों को पंजाब (Punjab) से कहीं अधिक दरों पर बिजली दे रहे हैं. उन्होंने मांग की कि केजरीवाल दिल्ली में बिजली कम्पनियों की मनमानी खत्म करके बिलों पर फिक्स चार्ज खत्म करके और उपभोक्ताओं को सब्सिडी (Subsidy) की छूट देने का काम करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज