कांग्रेस का केजरीवाल सरकार पर हमला, बोले-दिल्ली की नीतियां नहीं रहीं ठीक, अब केंद्र को ठहरा रहे दोषी

संक्रमण की रोकथाम के लिए लोगों को लगाई जाने वाली वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है.

संक्रमण की रोकथाम के लिए लोगों को लगाई जाने वाली वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है.

Shortage of corona vaccine: दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा है कि अब जब केजरीवाल सरकार की गलत नीतियों की वजह से राजधानी को कोरोना ने भयानक तरीके से जकड़ लिया है. उस समय सीएम अरविंद केजरीवाल टीकाकरण की कमी के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहरा रहे.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में एक तरफ तो कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़ने से अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन (Oxygen) की भारी किल्लत बनी हुई है. वही अब संक्रमण की रोकथाम के लिए लोगों को ज्यादा से ज्यादा लगाई जाने वाली वैक्सीन (Vaccine) भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है.

इसके चलते दिल्ली सरकार (Delhi Government) को कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर में से 125 सेंटरों को बंद करना पड़ रहा है. इसको लेकर अब कांग्रेस ने केंद्र सरकार (Central Government) और दिल्ली सरकार पर हमला बोला है

चौ अनिल कुमार ने कहा कि इसके परिणामस्वरूप, दिल्ली सरकार उन लोगों को टीके की दूसरी खुराक नहीं दे सकती है जिन्होंने दो महीने पूर्व पहली टीके की खुराक ली थी और उन्हें 4-6 सप्ताह के भीतर अपना दूसरा डोज मिल जाना चाहिए था. लेकिन टीका की कमी के कारण दूसरा डोज को अनिश्चितकाल के लिए विलंबित किया गया है, जिससे लोगों को फिर से प्रक्रिया से गुजरने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है. इससे टीका की उपलब्धता पर अतिरिक्त माँग का भार डलेगा और साथ ही यह युवा समूह के लिए टीकाकरण अभियान आगे नही बढ़ सकेगा.

चौ अनिल कुमार ने कहा कि अब जब केजरीवाल सरकार की गलत नीतियों की वजह से दिल्ली को कोरोना ने भयानक तरीके से जकड़ लिया है तो सीएम अरविंद टीकाकरण की कमी के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहरा रहे थे.
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार (Modi Government) की सर्वोच्च प्राथमिकता देश की जनता नहीं थी क्योंकि मोदी सरकार ने 93 देशों में लगभग 6.5 करोड़ वैक्सीन का निर्यात कर दिया जहां संक्रमण दर भारत की तुलना में बहुत कम थी और वे अपने दम पर वैक्सीन खरीदने के लिए पर्याप्त समृद्ध थे तथा उन्हें भारत के इस उपकार  की आवश्यकता नहीं थी.

वहीं, केजरीवाल सरकार, कोविड महामारी के संकट में टीके के उपलब्धता और घरेलू जरूरतों के लिए आपूर्ति के लिए सही समय से गम्भीर नहीं रही.

चौ अनिल कुमार ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की सरकार संकट में कोविड का टीका खरीद में बिल्कुल भी गंभीर नहीं थी. उन्होंने कहा कि अब टीका की कमी की वजह से दिल्ली सरकार को दिल्ली में टीका लगाने वाले लगभग 125 टीकाकरण केंद्रों को बंद कर रही है, और अब कांग्रेस की पूर्व मांग पर सरकार को वैक्सीन के लिए वैश्विक निविदाओं (Global Tender) के लिए मजबूर होना पड़ा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज