कोरोना के बिगड़े हालातों पर कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार के खिलाफ पारित किया निंदा प्रस्ताव, मौतों की जिम्मेदारी लें

कांग्रेस की ओर से दिल्ली की केजरीवाल सरकार के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया है.

कांग्रेस की ओर से दिल्ली की केजरीवाल सरकार के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया है.

प्रदेश कांग्रेस की ओर से मोदी सरकार और केजरीवाल सरकार के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया गया है. इसमें कोरोना महामारी को रोकने में नाकाम होने और उचित स्वास्थ्य सेवाओं का इंतजाम नहीं कर पाने की वजह से लोगों की मौतों का जिम्मेदार दोनों को ठहराया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) में कोरोना (Corona) से बिगड़े हालात और खराब हुई चिकित्सा व्यवस्था पर अब दिल्ली कांग्रेस (Congress) ने केजरीवाल सरकार (Kejriwal Government) पर निशाना साधा है.

प्रदेश कांग्रेस की ओर से मोदी सरकार (Modi Government) और दिल्ली की केजरीवाल सरकार के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया है. इसमें कोरोना महामारी को रोकने में नाकाम होने और उचित स्वास्थ्य सेवाओं का इंतजाम नहीं कर पाने की वजह से लोगों की मौतों का जिम्मेदार दोनों को ठहराया है.

वर्चुअल बैठक प्रदेश अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार की अध्यक्षता में आयोजित की गई. बैठक में दिल्ली के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल मुख्य रूप से उपस्थित रहे. निंदा प्रस्ताव में कोविड महामारी को रोकने में नाकाम और उचित स्वास्थ्य सेवाओं का इंतजाम ना कर पाने के कारण देश में लाखों लोगों की मौत के जिम्मेदार देश के प्रधानमंत्री और दिल्ली में कोरोना के कारण फैले भयावह मंजर के जिम्मेदार अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पेश किया.

जहां एक तरफ कोरोना के मरीजों को उनके जीते जी हॉस्पिटल, ऑक्सिजन और दवाइयाँ तक नही मिल पायी. दूसरी तरफ मरने के बाद भी अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियां और दफन होने के लिए दो गज जमीन के लिए कई-कई दिन इंतजार करना पड़ा.
बैठक में पूर्व केंद्रीय मंत्री कृष्णा तीर्थ, पूर्व अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा, पूर्व मंत्री हारून यूसुफ़, पूर्व सांसद उदित राज, कई पूर्व विधायक, प्रदेश उपाध्यक्ष, ज़िला अध्यक्ष समेत अनेक नेता उपस्थित थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज