लाइव टीवी

प्रियंका गांधी बोलीं- मंदी की वजह से आमदनी जीरो, फिर भी मौन हैं पीएम मोदी

News18Hindi
Updated: December 13, 2019, 11:53 AM IST
प्रियंका गांधी बोलीं- मंदी की वजह से आमदनी जीरो, फिर भी मौन हैं पीएम मोदी
प्रियंका गांधी ने महंगाई को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना (file photo)

कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा, 'बीजेपी की कुनीतियों के चलते आई मंदी की वजह से आमदनी जीरो है, फिर भी देश के प्रधानमंत्री इस पर मौन हैं.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 13, 2019, 11:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने मंहगाई के मुद्दे पर एक बार फिर मोदी सरकार (Modi Government) को घेरा है. खुदरा मुद्रास्फीति नवंबर महीने में बढ़कर 5.54 प्रतिशत पर पहुंचने को लेकर प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को कहा कि मंहगाई तीन साल में उच्चतम स्तर पर है लेकिन देश के प्रधानमंत्री मौन हैं.

प्रिंयका गांधी (Priyanka Gandhi) ने ट्वीट किया, ‘महंगाई पिछले तीन साल में उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. रोज के इस्तेमाल का सामान लेने में ही आम लोगों की जेबों पर कैंची चल रही है. भाजपा की कुनीतियों के चलते आई मंदी की वजह से आमदनी जीरो है, लेकिन देश के प्रधानमंत्री इस पर मौन हैं.’

प्रियंका गांधी का ट्वीट


मंहगाई के मुद्दे पर राहुल गांधी ने भी किया था कटाक्ष

इससे पहले झारखंड़ के साहेबगंज में गुरुवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने देश में लगातार बढ़ रही महंगाई मोदी सरकार पर निशाना साधा था. राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को छोड़कर पूरे हिंदुस्तान को देश में लगातार बढ़ रही महंगाई के बारे में पता है. उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि शायद पीएम मोदी दूसरी दुनिया में रहते हैं, इसिलए वे इस महंगाई से अनजान हैं.

अर्थव्यवस्था के मोर्च पर दो बड़े झटके
बता दें कि अर्थव्यवस्था के मोर्च पर दो बड़े झटके लगे है. नवंबर महीने में महंगाई 4.62 फीसदी से बढ़कर 5.54 फीसदी हो गई है. वहीं, अक्टूबर में इंडस्ट्रियल ग्रोथ फिर से निगेटिव जोन में बनी हई है. हालांकि, सितंबर के मुकाबले इसमें कुछ सुधार देखने को मिला है. यह -5.4 फीसदी के मुकाबले -3.8 फीसदी हो गई है. जबकि, पिछले साल अक्टूबर 2018 में यह 8.4 फीसदी थी.आपको बता दें कि औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) का किसी भी देश की अर्थव्यवस्था में खास महत्व होता है. इससे पता चलता है कि उस देश की अर्थव्यवस्था में औद्योगिक वृद्धि किस गति से हो रही है. अर्थशास्त्री बताते हैं कि देश के मैन्युफैक्चरिंग, सर्विसेज सेक्टर में आर्थिक सुस्ती का दौर जारी है. देश में अभी तक प्राइवेट प्लेयर्स इन्वेस्टमेंट करने से झिझक रहे है. इसीलिए कई सेक्टर्स की कंपनियों में छंटनी हो रही है.

ये भी पढ़ें-

मुलायम और पूर्व PM मनमोहन सिंह को मिला लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 11:46 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर