Home /News /delhi-ncr /

contract employees of lady hardinge medical college protested dlpg

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज से निकाले गए संविदाकर्मी, अस्‍पताल के बाहर प्रदर्शन

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के निकाले गए कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया. सांकेतिक तस्‍वीर

लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के निकाले गए कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया. सांकेतिक तस्‍वीर

नौकरी खो चुके इन कर्मचारियों में महिला और पुरुष दोनों ही शामिल हैं. इन्‍होंने बताया कि कोरोना काल में कोविड योद्धा की उपाधि से नवाजे गए लोगों को अब बाहर किया जा रहा है और कोई भी इनकी सुधि नहीं ले रहा. देशभर में लाखों परिवार कोविड महामारी की चपेट में अपने प्रियजनों को गवां चुके हैं तब कोविडग्रस्त रोगियों की सेवा और देखभाल करने वाले चिकित्साकर्मियों को काम से निकाला जा रहा है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. कोरोना काल में कोविड मरीजों (Covid Patients) को बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं देने के लिए कर्मचारियों की भर्ती की गई थी. दिल्‍ली ही नहीं आसपास के कई अस्‍पतालों में सैकड़ों की संख्‍या में कर्मचारियों को संविदा पर नियुक्ति दी गई थी लेकिन अब कोरोना के मामले कम होने के बाद इन कर्मचारियों को निकाला जा रहा है. नौकरी से निकाले जाने का विरोध कर रहे ऐसे ही दर्जनों कर्मचारियों ने आज दिल्‍ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (Lady Hardinge Medical College) के बाहर प्रदर्शन किया.

    नौकरी खो चुके इन कर्मचारियों में महिला और पुरुष दोनों ही शामिल हैं. इन्‍होंने बताया कि कोरोना काल में कोविड योद्धा की उपाधि से नवाजे गए लोगों को अब बाहर किया जा रहा है और कोई भी इनकी सुधि नहीं ले रहा. देशभर में लाखों परिवार कोविड महामारी की चपेट में अपने प्रियजनों को गवां चुके हैं तब कोविडग्रस्त रोगियों की सेवा और देखभाल करने वाले चिकित्साकर्मियों को काम से निकाला जा रहा है. कोरोना के दौरान पीएम मोदी ने इन्‍हें कोविड योद्धा कहा था और लोगों ने इन पर फूल बरसाए थे लेकिन आज फंड की कमी या ज़रूरत खत्म हो जाने जैसी बातें कहकर इन कोविड योद्धाओं को बाहर किया जा रहा है. यह हाल सिर्फ एक अस्‍पताल का नहीं है. दिल्ली के अलग-अलग स्वास्थ्य संस्थानों में ऐसे घनघोर जन-विरोधी कदम के खिलाफ कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारी संघर्षरत हैं.

    विरोध कर रहे कर्मचारियों ने कहा कि लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज से लेकर डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल तक केंद्र सरकार ने भारी मात्रा में कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों की छटनी शुरू कर दी है. लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में वेंटीलेटर और बाइपैप मशीन जैसी महत्वपूर्ण जीवन-रक्षक मशीनों को संचालित करने वाले कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों की छटनी कर दी गई है. डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल में बारह-तेरह साल से कार्यरत कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों समेत दर्जनों कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों तक की छटनी की जा चुकी है. इसी प्रकार से केंद्र सरकार के ही अधीन आनेवाले राजकुमारी अमृत कौर कॉलेज ऑफ नर्सिंग के कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को उच्च न्यायालय के आदेश के बावजूद काम से हटा दिया गया है. गौरतलब है कि भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अधीन उप-श्रमायुक्त कार्यालय के निर्देशों के ठीक विपरीत जाकर सरकारी संस्थान कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों को रखने को तैयार नही है.

    Tags: Corona warriors, Delhi Hospital, Protest

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर