Corona Case: दिल्ली में 1270 ICU बेड में से सिर्फ 108 बचे हैं खाली

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

दिल्ली (Delhi) में कुल कोरोना बेड की संख्या 16508 है. ऐसे में कोरोना एप (Corona APP) के मुताबिक़ 11 नवंबर दोपहर 1 बजे तक दिल्ली में 8487 बेड पर मरीज़ भर्ती है जबकि 8021 बेड अभी ख़ाली पड़े है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2020, 4:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) केस का आइडिया कोरोना एप से बड़ी आसानी से लगाया जा सकता है. दिल्ली में कुल कोरोना बेड की संख्या 16508 है. ऐसे में कोरोना एप के मुताबिक़ 11 नवंबर को दोपहर एक बजे तक दिल्ली (Delhi) में 8487 बेड पर मरीज़ भर्ती हैं, जबकि 8021 बेड अभी ख़ाली पड़े हैं. वहीं अगर वेंटीलेटर (Ventilator) वाले आईसीयू (ICU) बेड की बात करें तो उनकी कुल संख्या 1270 है. जिसमें से 1108 आईसीयू बेड पर मरीज़ भर्ती हो चुके हैं. जबकि 108 आईसीयू बेड ही अब ख़ाली बचे हैं. बेड का यह आंकड़ा खासा परेशान करने वाला है. इसी के चलते दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM arvind kejriwal) ने प्राइवेट अस्पतालों में बेड रिजर्व के मुद्दे पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन को पत्र लिखा है.

दिल्ली में यह है कोरोना पॉजिटिव के बेड का हाल

कोविड-19 आईसीयू बेड की बात करें तो वेंटिलेटर के साथ आईसीयू बेड की कुल संख्या 1270 है. जिसमें से 1108 आईसीयू बेड पर मरीज़ भर्ती हो चुके हैं, जबकि 108 आईसीयू बेड ही अब ख़ाली पड़े हैं.



इसके साथ ही कोविड-19 के बिना वेंटिलेटर के आईसीयू बेड की संख्या की बात करें तो इनकी कुल संख्या 2066 की है जिसमें से 1718 आईसीयू बेड पर मरीज़ भर्ती हैं. जबकि 348 बेड ख़ाली पड़े हैं.
कोरोना एप के मुताबिक़ दिल्ली सरकार के 3 बड़े अस्पतालों पर भी नज़र डाले तो-

यह भी पढ़ें- DDMA का बड़ा फैसला, इस बार दिल्ली में पब्लिक प्लेस पर नहीं होगी छठ पूजा, जानें पूरा मामला

दिल्ली सरकार के जीटीबी अस्पताल में कुल 128 आईसीयू बेड हैं जिसमें से एक भी बेड अब ख़ाली नही बचा है.

अगर दिल्ली के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल LNJP की बात करें तो इस अस्पताल में कुल 200 आईसीयू बेड हैं, जिसमें से अब 6 ही आईसीयू बेड ख़ाली बचे हैं.

राजीव गांधी अस्पताल में भी कुल 200 आईसीयू बेड हैं जिसमें से इस वक्त 44 बेड ही अब ख़ाली बचे हैं.

केन्द्र सरकार के दो बड़े अस्पतालों पर भी नज़र डाले तो-

सफ़दरजंग अस्पताल में कुल 54 आईसीयू बेड हैं जिनमें से सिर्फ़ 2 ही ख़ाली पड़े हैं.

वहीं एम्स ट्रॉमा दिल्ली की बात करें तो इसमें कुल 50 आईसीयू बेड हैं, लेकिन अब सिर्फ़ 4 ही आईसीयू बेड ख़ाली पड़े हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज