बेकाबू कोरोना: दिल्ली में CM केजरीवाल की आपात बैठक, हो सकते हैं सख्त फैसले

कोरोना के हालातों पर सीएम आवास में आपात बैठक.

कोरोना के हालातों पर सीएम आवास में आपात बैठक.

Emergency meeting on Corona: बैठक में दिल्ली में बढ़ते कोरोना (COVID-19) केस की रोकथाम के लिए एक्शन प्लान, वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति, कंटेनमेंट जोन, अस्पतालों के बेड़ प्रबंधन और सिरो सर्वे के साथ वर्तमान में कोरोना केस की मैपिंग की सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) समीक्षा करेंगे.

  • Share this:
दिल्ली.  राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना (COVID-19) के बढ़ते मामलों के बाद सरकार अलर्ट हो गई है.  हालातों पर चर्चा करने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने आवास में आपात बैठक (Emergency meeting) बुलाई है. इस बैठक में दिल्ली में बढ़ते कोरोना केस की रोकथाम के लिए एक्शन प्लान, वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति, कंटेनमेंट जोन, अस्पतालों के बेड़ प्रबंधन और सिरो सर्वे के साथ वर्तमान में कोरोना केस की मैपिंग की सीएम अरविंद केजरीवाल समीक्षा करेंगे. बैठक में शामिल होने दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन और अन्य अधिकारी सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंच गए हैं.

दिल्ली समेत देश भर में पिछले कुछ दिनों से कोरोना के केस में बढ़ोत्तरी देखी गई है. दिल्ली निवासियों को कोरोना की वजह से दिक्कतों का सामना न करना पड़े, इसके लिए सीएम अरविंद केजरीवाल के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग सक्रीय हो गया है और पिछले कुछ दिनों में विभाग ने कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. मुख्यमंत्री के आदेश के बाद दिल्ली के 33 बड़े अस्पतालों में 25-25 फीसद आईसीयू और समान्य बेड बढ़ा दिए गए हैं. इन 33 अस्पतालों में 30 मार्च तक कोविड के 1705 समान्य बेड थे, जो अब बढ़ कर 2547 हो गए हैं.  इस तरह 842 कोविड के समान्य बेड बढ़ा दिए गए हैं. इसी तरह, कोविड मरीजों के लिए 30 मार्च तक 608 आईसीयू बेड थे, जिसमें 230 बेड की बढ़ोत्तरी की गई है और अब दिल्ली में कोविड के लिए 838 आईसीयू बेड हो गए हैं.

ये भी पढ़ें: बेगूसराय में शराब पीने से नहीं हुई थी दो युवकों की मौत, पीएम रिपोर्ट में खुलासा, बखरी विधायक ने उठाया सवाल

बनाई गई सर्विलांस टीम
जिला स्तर पर सर्विलांस टीमें नजर बनाए हुई हैं. कोरोना से संक्रमित मरीजों के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है. संक्रमितों के संपर्क में आए कम से कम 30 लोगों को ट्रेस किया जा रहा है और जांच कर उन्हें आइसोलेट किया जा रहा है, ताकि उनके जरिए दूसरें लोगों में कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके. सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के बावजूद कुछ लोग सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहन कर जाने में लापरवाही बरत रहे हैं. मुख्यमंत्री ने बिना मास्क लगाए सार्वजनिक स्थनों पर जाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज