लाइव टीवी

Lockdown: सुहास एल. वाई होंगे नोएडा के नए DM, बीएन सिंह के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 31, 2020, 1:21 AM IST
Lockdown: सुहास एल. वाई होंगे नोएडा के नए DM, बीएन सिंह के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश
सीएम योगी आदित्यनाथ के पिता का निधन सोमवार को सुबह एम्स दिल्ली में हो गया है. (File Photo)

CoronaVirus: वीडियो में साफ सुना जा सकता है कि सीएम योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) डीएम से कह रहे हैं कि अपनी बकवास बंद करो. इसी बकवास की वजह से यहां के हालात बिगड़े हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2020, 1:21 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सुहास ललीनाकेरे यतिराज अब नोएडा (Noida) के नए डीएम होंगे. डीएम बीएन सिंह को पदमुक्त कर दिया गया है. वैसे उन्होंने भी मुख्य सचिव को पत्र लिखकर तीन महीने की छुट्टी मांगी थी. इससे पहले आज नोएडा में हुई एक मीटिंग में सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने डीएम की क्लास लगा दी थी. नोएडा के मौजूदा हालात के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया था. मीटिंग के वायरल हुए वीडियो में साफ सुना जा सकता है कि सीएम योगी डीएम से कह रहे हैं कि अपनी बकवास बंद करो. इसी बकवास की वजह से यहां के हालात बिगड़े हैं. इसी के बाद डीएम ने नोएडा में काम करने से इंकार कर दिया था.

मुख्‍य सचिव ने कही ये बात
उत्‍तर प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी ने सुहास अलवई को डीएम बनाने की पुष्टि की है. साथ ही उन्‍होंने कहा कि नोएडा में कोरोना वायरस के रोकथाम में फेल हुए बीएन सिंह ने तीन महीने की छुट्टी मांग अनुशासनहीनता का परिचय दिया. इतना ही नहीं इस बात को मीडिया में भी लीक किया, जिसकी वजह से उनका स्थान्तरण राजस्व परिषद में करते हुए विभागीय कार्रवाई की सिफारिश की गई है. जांच की ज़िम्मेदारी नोएडा अथॉरिटी के चेयरमैन आलोक टंडन को दी गई है.

सीज़फायर कंपनी के खिलाफ देरी से हुई कार्रवाई से थे खफा



सीएम योगी ने नोएडा अधिकारियों संग मीटिंग की. नोएडा के हालात का जायज़ा लिया. डीएम ने बताया कि अभी तक 33 केस पॉजिटिव सामने आए थे. तीन ठीक होकर चले गए और बाकी अभी अलग-अलग अस्पताल में हैं. लेकिन 30 में से अकेले 19 केस सीज़फायर कंपनी से जुड़े कर्मचारियों के हैं. ऐसा दावा किया जा रहा है कि इसी कंपनी से पॉजिटिव केस बढ़ना शुरु हुए थे. इसी के चलते रविवार को कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है. कुछ दिन पहले कंपनी के एमडी विदेश से लौटे थे. वहीं जॉन नाम का एक ऑडिटर भी ब्रिट्रेन से आया था.



हर राज्य में मौजूद यूपी के अधिकारियों को मिली जिम्‍मेदारी
प्रदेश सरकार द्वारा देश के विभिन्न राज्यों में बसे उत्तर प्रदेश मूल के व्यक्तियों की सहायता के लिए देश के लगभग सभी राज्‍यों में वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की तैनाती की है. तैनाती के दौरान, ऐसे अधिकारियों को प्राथमिकता दी गई है जो किसी दूसरे राज्‍यों से हैं और उनका सर्विस कैडर उत्‍तर प्रदेश है. इनमें से कुछ अधिकारी ऐसे भी हैं जो छुट्टियों में गृह राज्‍य गए थे और लॉक डाउन के चलते वापस नहीं आ सके. ऐसे अधिकारियों को उस राज्‍य में मौजूद यूपी मूल के लोगों की मदद करने के लिए कहा गया है.

ये भी पढ़ें :-

Lockdown: दिल्ली पुलिस ने किया अलर्ट, कोरोना पीड़ितों के नाम पर ऐसे हो रही ठगी

Corona Lockdown: जब CM योगी अधिकारी से बोले- चुप रहो तुम्हारी वजह से बिगड़े नोएडा के हालात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 30, 2020, 8:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading