लाइव टीवी

COVID-19: अब ट्रेन के डब्बे बनेंगे कोरोना आइसोलेशन सेंटर, 20 हजार कोच किए जा रहे सैनेटाइज
Delhi-Ncr News in Hindi

Chandan Kumar | News18Hindi
Updated: March 26, 2020, 5:58 PM IST
COVID-19: अब ट्रेन के डब्बे बनेंगे कोरोना आइसोलेशन सेंटर, 20 हजार कोच किए जा रहे सैनेटाइज
रेलवे ने ऑनलाइन डैश बोर्ड के गठन का फैसला किया है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए किए जा रहे तमाम उपाय के बावजूद महामारी पर नियंत्रण न होता देख केंद्र सरकार ने बनाई योजना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 5:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (coronavirus) से बचाव के लिए देश भर में 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान हो चुका है. महामारी को फैलने से रोकने के लिए तमाम उपाय भी किए जा रहे हैं, बावजूद इसके कोरोना पर नियंत्रण होता दिख नहीं रहा. ऐसे में कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए सरकार नए तरीके अपनाने पर विचार कर रही है. इसके तहत केंद्र सरकार बड़ा फैसला लेते हुए अब ट्रेन के डिब्बों को कोरोना आइसोलेशन सेंटर बनाने पर विचार कर रही है. भारतीय रेल के पास इस वक्त 50 से 60 हजार कोच हैं. लेकिन फिलहाल सिर्फ 20 हजार कोच को आइसोलेशन सेंटर बनाने की बात चल रही है. यह कदम इसलिए भी उठाया जा रहा है कि फिलहाल कुछ वक्त के लिए सभी ट्रेनें अपनी-अपनी जगह पर खड़ी हुई हैं.

ट्रेन के सभी कोच को किया जा रहा है सैनेटाइज
रेलवे से जुड़े जानकार बताते हैं कि जिन 20 हजार कोच को आइसोलेशन सेंटर बनाने पर विचार चल रहा है. जरूरत पड़ी तो कोरोना के मरीजों को इन कोच में रखा जाएगा. इसके लिए इन हजारों डब्बों को सैनेटाइज किया जा रहा है. ट्रेनों के कोच को सैनेटाइज करने की जरूरत इसलिए है क्योंकि कुछ दिन पहले तक इनमें हजारों अनजान यात्रियों ने सफर किया है. इसमें से कौन कोरोना संक्रमित था या अन्य बीमारियों से ग्रसित था, इसका पता नहीं लगाया जा सकता. इसी को देखते हुए कोचों को सैनेटाइज करने का फैसला लिया गया है. डिब्बों को सैनेटाइज करने के बाद सभी ट्रेनें आरपीएफ की निगरानी में दे दी गई हैं.

यहां बन रहा है कोरोना से बचाव का सामान



इधर, देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए रक्षा मंत्रालय के अधीन कार्यरत संस्था डीआरडीओ की लैब में भी सैनेटाइजर बनाया जा रहा है. अब तक 20 हजार लीटर सैनेटाइजर बनाया जा चुका है. इसमें से अकेले 10 हजार लीटर सैनेटाइजर दिल्ली पुलिस को दिया गया है. शेष दूसरे अलग-अलग सरकारी संस्थानों को दिया गया है. उन्होंने बताया कि डीआरडीओ ने दिल्ली पुलिस को 10 हजार मास्क की सप्लाई भी की है.

बॉडी सूट भी बना रहा डीआरडीओ
कोरोना से बचाव के लिए सैनेटाइजर बनाने के साथ ही डीआरडीओ के दूसरे संस्थान पर्सनल प्रोटेक्शन उपकरण जैसे बॉडी सूट बनाने का काम भी कर रहे हैं. उत्पादन ज़्यादा से ज़्यादा हों इस पर ध्यान दिया जा रहा है. रक्षा मंत्री ने बताया कि हमारे अधिकारी और कर्मचारी रात-दिन इस काम में लगे हुए हैं. ऑर्डिनेंस फ़ैक्ट्री बोर्ड भी सैनेटाइजर, मास्क और बॉडी सूट बना रहा है. वहीं भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड एक कदम आगे बढ़ाते हुए वेंटिलेटर बनाने के काम में लगा हुआ है.

ये भी पढ़ें :-

Corona Lockdown: बाज़ार में इस रेट पर बिकेगा आटा, दाल-चावल और सब्जियां, ज़्यादा लिए पैसे तो होगी FIR

Corona Lockdown: यहां रात-दिन बनाए जा रहे हैं सैनिटाइज़र, मास्क, बॉडी सूट और वैंटीलेटर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 26, 2020, 4:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर