Home /News /delhi-ncr /

Omicron Variant: द‍िल्ली में कोरोना के मामले बढ़ने पर लागू होगा ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान, जानें चार स्‍टेज में कैसे करेगा ये काम

Omicron Variant: द‍िल्ली में कोरोना के मामले बढ़ने पर लागू होगा ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान, जानें चार स्‍टेज में कैसे करेगा ये काम

द‍िल्‍ली सरकार पहले से ही 'ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान' तैयार कर चुकी है.  (File Photo)

द‍िल्‍ली सरकार पहले से ही 'ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान' तैयार कर चुकी है. (File Photo)

Omicron Variant: द‍िल्‍ली सरकार की ओर से तैयार 'ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान' कैसे काम करेगा, इसकी पूरी रेखा बनाई जा चुकी है. द‍िल्‍ली में मामलों के तेजी से बढ़ने के बाद सरकार इस प्‍लान पर काम करने लगेगी. द‍िल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन खुद इस बात को कह रहे हैं क‍ि ओम‍िक्रॉन वेर‍िएंट के आने और मामलों में बढ़ोत्‍तरी से घबराने की जरूरत नहीं है. इसमें स‍िर्फ ए‍हत‍ियातन कदम उठाने और सतर्कता बरतने की बेहद जरूरत है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. द‍िल्‍ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में भले ही मामूली बढ़ोत्‍तरी हो रही हो. लेक‍िन द‍िल्‍ली सरकार इसको लेकर पूरी तरह से अलर्ट है. द‍िल्‍ली में ओम‍िक्रॉन (Omicron) का भी एक मामला सामने आने और 17 कोरोना पॉज‍िट‍िव म‍िलने के बाद सरकार और अलर्ट मोड पर है. इन सभी में अभी कोरोना के नए वेर‍िएंट ओम‍िक्रॉन की जांच र‍िपोर्ट आना बाकी है. ऐसे में द‍िल्‍ली सरकार (Delhi Government) पहले से ही ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ तैयार कर चुकी है. अगर मामलों में इजाफा होता है तो यह प्‍लान चरणबद्ध तरीके से लागू हो जाएगा.

    द‍िल्‍ली सरकार की ओर से जारी हेल्‍थ बुलेट‍िन के मुताब‍िक मंगलवार को कोरोना संक्रम‍ण (Coronavirus)  के नए 51 मरीज र‍िकार्ड क‍िए गए और र‍िकवर्ड/डि‍स्‍चार्ज/माइग्रेट होने वालों का आंकड़ा 19 दर्ज क‍िया गया. इससे दैन‍िक संक्रमण दर 0.10 फीसदी हो गई है. हालांक‍ि मंगलवार शाम को जारी र‍िपोर्ट में प‍िछले 24 घंटे में क‍िसी की मरीज की मौत र‍िपोर्ट नहीं हुई है. कुल एक्‍ट‍िव मरीजों की संख्‍या भी अब बढ़कर 344 से 376 हो गई. समग्र संक्रम‍ित मरीजों की दर भी 4.60 फीसदी है.

    ये भी पढ़ें: Covid 19: द‍िल्‍ली में इस माह कोरोना से हुई पहली मौत, 24 घंटे में आए 40 नए मामले

    उधर, द‍िल्‍ली सरकार की ओर से तैयार ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ कैसे काम करेगा, इसकी पूरी रेखा बनाई जा चुकी है. द‍िल्‍ली में मामलों के तेजी से बढ़ने के बाद सरकार इस प्‍लान पर काम करने लगेगी. द‍िल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन खुद इस बात को कह रहे हैं क‍ि ओम‍िक्रॉन वेर‍िएंट के आने और मामलों में बढ़ोत्‍तरी से घबराने की जरूरत नहीं है. इसमें स‍िर्फ ए‍हत‍ियातन कदम उठाने और सतर्कता बरतने की बेहद जरूरत है.

    जैन का मानना है कि अगर द‍िल्‍ली में कोरोना के केस बढ़ते हैं तो दिल्ली सरकार अपना ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ फॉलो करेगी. इसके तहत जब संक्रमण दर 0.5 फीसदी, यानी जिस दिन 1 हजार में से 5 लोग पॉजिटिव आना शुरू होंगे, उस दिन इसका पहला चरण शुरू हो जाएगा. सरकार ने इस प्लान को चार चरणों में तैयार क‍िया है.

    इसके दूसरे चरण को संक्रमण दर 1 फीसदी होने पर यानी 1 हजार में से 10 लोगों के पॉजिटिव आने पर शुरू कर द‍िया जाएगा. तीसरा चरण 1 हजार टेस्ट करने पर 20 लोगों के पॉजिटिव पाए जाने पर यानी 2‌ फीसदी संक्रमण दर होने पर शुरू किया जाएगा.

    चौथा और आख‍िरी चरण 5 फीसदी संक्रमण दर होने पर शुरू किया जाएगा. हालांकि अभी दिल्ली में कोरोना के मामले 0.5 फीसदी से बहुत कम है. इसलिए अभी क‍िसी भी प्रकार के लॉक डाउन को लगाने की जरूरत महसूस नहीं की जा रही है.

    कोरोना के नए वेर‍िएंट आने के बाद भी लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं
    कोरोना के नए वेर‍िएंट के मामले सामने आने के बाद भी सरकार क‍िसी तरह का लॉकडाउन लगाने की तैयारी में नहीं है. सरकार ने साफ कर द‍िया है क‍ि इसको रोकने के ल‍िए दिल्ली सरकार अपना ‘ग्रेडेड रेस्पांस एक्शन प्लान’ फॉलो करेगी. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने भी साफ कर द‍िया है क‍ि अभी फिलहाल लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं है.

    डेल्‍टा वेर‍िएंट से ज्‍यादा तेजी से फैलता है ओम‍िक्रॉन वेर‍िएंट
    द‍िल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल का भी कहना है क‍ि कोरोना के नए वेर‍िएंट आने के बाद घबराने की जरूरत नहीं है. सभी को सतर्क रहने की जरूरत है, क्यूंकि यह वेरिएंट बहुत ही तेजी से फैलने वाला वेरिएंट है. यह डेल्टा वारिएंट से भी ज्‍यादा तेजी से फैलता है. इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है.

    दिल्ली में 93.9 फीसदी से ज्यादा लोग वैक्सीन की पहली डोज ले चुके
    सीएम का कहना है क‍ि मास्क ही वायरस के हर वेरिएंट से बचने की एकमात्र शील्ड है. सभी लोग मास्क जरूर लगाएं तथा जिन्होंने वैक्सीन की दूसरी डोज़ नहीं लगवाई है, वे जल्द से जल्द दूसरी डोज़ लगवाएं. तभी हम कोरोना का सामना मजबूती से कर पाएंगे. दिल्ली में 93.9 फीसदी से भी ज्यादा लोग वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं. दूसरी डोज़ 61.3 फीसदी से ज्यादा लोग ले चुके हैं.जिन लोगों ने वैक्सीन लगवा लिया है उन्हें भी सावधानी बरतने की जरूरत है.

    फ्लाइट्स पर रोक लगाने को केंद्र क‍ी ल‍िखे जा चुके हैं कई बार पत्र
    इस बीच देखा जाए तो द‍िल्‍ली सरकार केंद्र को लगातार चिट्ठी लिख कर ऑमिक्रॉन वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाले फ्लाइट को कुछ समय तक बंद करने की अपील कर रही है. लेकिन केंद्र सरकार अभी तक फ्लाइट्स पर रोक नहीं लगाने पर कोई फैसला नहीं ले पाई है. अपील की जा रही है क‍ि पहले जैसी स्‍थित‍ि से बचने के ल‍िए कुछ दिनों के लिए ऑमिक्रॉन वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाली फ्लाइट बंद क‍िए जाने की तुरंत जरूरत है.

    ओमिक्रोन वेरिएंट से बचने का यह सबसे आसान और कारगर तरीका माना जा रहा है. दिल्ली में विदेशों से सबसे ज़्यादा फ्लाइट आती हैं. इसलिए दिल्ली को इससे सबसे ज्‍यादा खतरा है. इसल‍िए इस पर जल्‍द ही गंभीरता से विचार कर फैसला लेने की जरूरत महसूस की जा रही है.

    Tags: Corona in Delhi, COVID 19, Delhi Government, Delhi news, Health News, Omicron, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर