Ghaziabad News- Corona Vaccine के लिए लोगों को सेंटरों के बाहर सड़कों पर नहीं करना पड़ेगा इंतजार, जानें क्‍या है योजना?

वैक्‍सीनेशन सेंटर के लिए स्‍कूलों को च‍िन्हित करने का काम शुरू.

वैक्‍सीनेशन सेंटर के लिए स्‍कूलों को च‍िन्हित करने का काम शुरू.

गाजियाबाद में कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के लिए लोगों को सेंटरों के बाहर सड़कों पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा. जल्‍द ही ओपेन स्‍पेस में सुविधाओं के साथ वैक्‍सीनेशन होगा.

  • Share this:

गाजियाबाद. कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) लगवाने के लिए लोगों को सेंटरों के बाहर सड़कों पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा. स्‍वास्‍थ्‍य विभाग (health department) ने वैक्‍सीन सेंटरों (Vaccination center) की जगह बदलने की योजना बनाई है कि जल्‍द ही ओपेन स्‍पेस में वैक्‍सीनेशन कार्यक्रम चलाया जाएगा. जहां पर लोगों को सुविधाएं भी मिलेंगी. गाजियाबाद के सीएमओ (CMO) ने बताया कि वैक्‍सीनेशन के लिए जगह चिन्हित करने का काम शुरू हो चुका है.

गाजियाबाद (Ghaziabad) में सरकारी और प्राइवेट मिलाकर करीब 65 स्‍थानों पर वैक्‍सीनेशन (Vaccination) का काम चल रहा है. ये वैक्‍सीनेशन जिला अस्‍पताल, संयुक्‍त अस्‍पताल, सीएचसी, पीएचसी और हैल्‍थ पोस्‍ट पर किया जा रहा है. तमाम हैल्‍थ पोस्‍ट (Health post) घनी आबादी के बीच हैं, जहां पर लोग वाहन से नहीं जा सकते हैं. बुजुर्ग लोगों को हैल्‍थ पोस्‍ट तक पैदल जाना पड़ता है. इसके बाद रोड पर ही लाइन लगाकर खड़े होना पड़ता है. यहां पर न बैठने की व्‍यवस्‍था होती है और न ही अन्‍य सुविधाएं मिलती हैं, इस वजह से लोगों को परेशानी हो रही थी.  इसी को ध्‍यान में रखते हुए स्‍वास्‍थ्‍य विभाग घनी आबादी वाले वैक्‍सीनेशन सेंटरों को खुली जगह पर शिफ्ट करने की तैयारी है.

इस संबंध में गाजियाबाद के सीएमओ डा. एके गुप्‍ता ने बताया कि वैक्‍सीन सेंटरों के लिए नए स्‍थानों की तलाश की जा रही है. संभावना है कि अगले सप्‍ताह से इन सेंटरों को शिफ्ट का काम शुरू हो जाएगा. वहां पर वैक्‍सीन लगवाने वाले लोगों के लिए कुर्सियां व अन्‍य सुविधाएं होंगी. उत्‍तर प्रदेश के स्‍वास्‍थ्‍य राज्‍य मंत्री अतुल गर्ग ने बताया कि चूंकि स्‍कूलों में ओपेन स्‍पेस अधिक होता है और वहां पर कवर्ड स्‍पेस होता है, जहां पर कुर्सियां डाली जा सकती हैं.

इसलिए संबंधित क्षेत्र के जनप्रतिनिधि स्‍कूलों की तलाश कर रहे हैं. यहां पर कुर्सियों पर ही नंबर डाल दिया जाएगा, जो जिस कुर्सी में बैठेगा, उसका नंबर वहीं होगा. इसके अलावा यहां पर समाजसेवी संस्‍थाओं द्वारा चाय,पानी की व्‍यवस्‍था भी उपलब्‍ध होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज