चेतावनी: वैक्‍सीन लगवाकर भागने के बजाय 30 मिनट तक सेंटर पर रुकना जरूरी, नहीं तो पड़ सकते हैं लेने के देने

कोरोना वैक्‍सीन लेकर तुरंत वैक्‍सीनेशन सेंटर से निकलना जान पर भारी पड़ सकता है.

कोरोना वैक्‍सीन लेकर तुरंत वैक्‍सीनेशन सेंटर से निकलना जान पर भारी पड़ सकता है.

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के टास्‍क फोर्स ऑपरेशन ग्रुप फॉर कोविड हेड डॉ. एन के अरोड़ा ने बताया कि देशभर में वैक्‍सीन लगने के बाद मौत के कई मामले सामने आए हैं. इसके लिए जरूरी है कि वैक्‍सीन लगने के बाद करीब 30 मिनट तक कोरोना वैक्‍सीनेशन सेंटर में ही बैठे रहें.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. आज से देशभर में कोरोना टीकाकरण (corona vaccination) का महाभियान शुरू हो गया है. आज एक अप्रैल से देश में 45 साल से ऊपर के सभी लोग वैक्‍सीनेशन सेंटर पर जाकर कोरोना का टीका (Covid-19 Vaccine) लगवा सकेंगे. इतना ही नहीं अब किसी को भी किसी बीमारी का सर्टिफिकेट भी नहीं दिखाना होगा. सिर्फ आधार कार्ड (Aadhar card) या वोटर कार्ड (Voter ID Card) जैसा पहचान पत्र ही दिखाना होगा.

कोरोना वैक्‍सीनेशन को लेकर न केवल वैक्‍सीनेशन सेंटरों (Vaccination Centres) पर बल्कि जैसे भी संभव हो रहा है लोगों को जागरुक किया जा रहा है साथ ही टीकाकरण के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों को लेकर आगाह भी किया जा रहा है. इसी तरह लोगों को बताया जा रहा है कि कोरोना की वैक्‍सीन लगवाने के बाद 25 से 30 मिनट तक वैक्‍सीनेशन सेंटर पर ही रुकना जरूरी है. ऐसा लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य को देखते हुए किया जा रहा है.

Youtube Video


इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के टास्‍क फोर्स ऑपरेशन ग्रुप फॉर कोविड हेड डॉ. एन के अरोड़ा ने बताया कि देशभर में वैक्‍सीन लगने के बाद मौत के कई मामले सामने आए हैं. इनमें ज्‍यादातर मौतें सामान्‍य मौतें हैं जो एक उम्र के बाद होती हैं या हो रही हैं. जबकि बहुत कम संख्‍या में लेकिन विश्‍व ही नहीं देश में भी कुछ मामले ऐसे भी आए हैं जो कोरोना की वैक्‍सीन लगने के तुरंत बाद या आधे घंटे के भीतर मौत हुई हैं. इनमें जांच के दौरान पाया गया है कि ये एलर्जिक रिएक्‍शन (Allergic Reaction) या सीवियर एलर्जी की वजह से ऐसा हुआ है.
कोरोना वैक्‍सीन, वैक्‍सीन का ि‍रिएक्‍शन, वैक्‍सीन लेने के बाद क्‍या करें, corona vaccine
देश में कोरोना वैक्‍सीन लेने के बाद भी मौतों के मामले सामने आए हैं.


डॉ. अरोड़ा कहते हैं कि वैक्‍सीन के बाद अधिक उम्र के लोगों में एलर्जी की संभावना ज्‍यादा रहती है बनिस्‍वत कम उम्र के लोगों के लेकिन संभावना होती है. लिहाजा वैक्‍सीन लगने के बाद लोगों को करीब आधे घंटे तक वैक्‍सीन सेंटर में ही रुकने के लिए कहा जा रहा है ताकि वैक्‍सीन के बाद इन्‍हें ऑब्‍जरवेशन में रखा जा सके. अगर वैक्‍सीन के बाद एलर्जी का कोई लक्षण दिखाई देता है और व्‍यक्ति की तबियत बिगड़ती है तो उसे तत्‍काल इलाज के लिए भेजा जा सके.

ये होते हैं रिएक्‍शन



विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) के अनुसार कोरोना वैक्‍सीन के रिएक्‍शन (Vaccine Reaction) को दो हिस्‍सों में बांटा गया है. हल्‍के और गंभीर. ऐसे में वैक्‍सीन लगने के बाद लोगों में वैक्‍सीन वाली जगह पर दर्द, सूजन या उस जगह का लाल पड़ जाने जैसे लक्षण दिखाई देना आम है. इसमें घबराने की जरूरत नहीं है. इसके अलावा बुखार आना, सिरदर्द, भूख न लगना और मांसपेशियों में दर्द होना भी शामिल है. इन हल्‍के लक्षणों से व्‍यक्ति के स्‍वास्‍थ्‍य पर गहरा असर नहीं पड़ता और जल्‍दी ही ये ठीक हो जाते हैं.

जबकि गंभीर रिएक्‍शन की बात करें तो इसमें जान जाने का भी खतरा होता है. इसमें वैक्‍सीन लगते ही उसका एलर्जिक रिएक्‍शन होता है. वैक्‍सीन को शरीर सपोर्ट नहीं करता और यह रिएक्‍शन होता है. इस रिएक्‍शन से मौत के कई मामले सामने आ चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज