• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Corona Vaccination: अक्‍टूबर से भारत में रोजाना लगेंगी एक करोड़ डोज, ये छह भारतीय वैक्‍सीन होंगी उपलब्‍ध

Corona Vaccination: अक्‍टूबर से भारत में रोजाना लगेंगी एक करोड़ डोज, ये छह भारतीय वैक्‍सीन होंगी उपलब्‍ध

भारत में अक्‍तूबर से कोरोना वैक्‍सीन की एक करोड़ डोज रोजाना लगेंगी.  (File pic)

भारत में अक्‍तूबर से कोरोना वैक्‍सीन की एक करोड़ डोज रोजाना लगेंगी. (File pic)

Corona Vaccination in India: आईसीएमआर के विशेषज्ञों के मुताबिक भारत में अक्‍तूबर महीने से कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड के अलावा स्‍पूतनिक के भारत निर्मित टीके और तीन अन्‍य भारत निर्मित वैक्‍सीन की डोज यहां लगना शुरू हो जाएंगी और रोजाना वैक्‍सीनेशन का आंकड़ा एक करोड़ हो जाएगा.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. पूरे विश्‍व में हाहाकार मचा देने वाले कोरोना के खिलाफ भारत में वैक्‍सीनेशन (Vaccination in India) अभियान को और तेज करने की तैयारी की जा रही है. अभी तक रोजाना करीब 50 लाख लोगों को लगाई जा रही वैक्‍सीन (Vaccine) की डोज को दो महीने के भीतर दोगुना करने की योजना पर काम किया जा रहा है. ऐसे में अकतूबर महीने में देश में करीब एक करोड़ लोगों का रोजाना वैक्‍सीनेशन किया जा सकेगा.

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के टास्‍क फोर्स ऑपरेशन ग्रुप फॉर कोविड के प्रमुख डॉ. एन के अरोड़ा ने न्‍यूज 18 हिंदी से बातचीत में बताया कि भारत में जल्‍द ही चार और भारतीय वैक्‍सीन (Indian Vaccine) आने वाली हैं. ऐसे में दो महीने बाद भारत के लोगों के लिए कुल छह वैक्‍सीन मौजूद रहेंगी. इतना ही नहीं वैक्‍सीनेशन की संख्‍या भी दोगुनी हो जाएगी.

डॉ. अरोड़ा ने बताया कि अभी भारत में रोजाना करीब 50 लाख लोगों को वैक्‍सीन की डोज लगाई जा रही है. यह संख्‍या घटती और बढ़ती भी रहती है. हालांकि अक्‍तूबर महीने में कोवैक्‍सीन (Covaxin) और कोविशील्‍ड (Covishield) के अलावा स्‍पूतनिक (Sputnik V) के भारत निर्मित टीके और तीन अन्‍य भारत निर्मित वैक्‍सीन की डोज यहां लगना शुरू हो जाएंगी. सभी वैक्‍सीन कंपनियों के ट्रायल और सभी जरूरी गतिविधियां लगातार चल रही हैं. साथ ही केंद्र सरकार इस पर नजर बनाए हुए है.

ये होंगी कुल छह भारतीय वैक्‍सीन

covid vaccine side effect कोरोना वैक्‍सीन, मेड इन इंडिया वैक्‍सीन

भारत में मेड इन इंडिया चार और वैक्‍सीन तैयार हो रही हैं. सांकेतिक फोटो (pixabHkkay)

अक्‍तूबर से भारत में हर महीने करीब 30 करोड़ डोज उपलब्‍ध होंगी. ऐसे में रोजाना एक करोड़ लोगों का वैक्‍सीनेशन किया जा सकेगा. इनमें कोवैक्‍सीन, कोविशील्‍ड, स्‍पूतनिक वी, जिनोवा की आरएनए वैक्‍सीन (Gennova mRNA Vaccine), बायोलॉजिकल ई वैक्‍सीन (Biological E Vaccine) और जायडस कैडिला की वैक्‍सीन शामिल हैं. अभी जायडस कैडिला को लेकर स्‍वीकृति पिछले कुछ हफ्ते से रुकी हुई है हालांकि उसे जल्‍द ही स्‍वीकृति मिलने की उम्‍मीद है.

ये भी पढ़ें- COVID-19 Third Wave: रोजाना कितने कोरोना केस आने पर मान लेंगे तीसरी लहर की आमद? जानें विशेषज्ञ की राय

भारत की पांच कंपनियां बना रहीं स्‍पूतनिक वी की डोजेज

डॉ. अरोड़ा कहते हैं कि देश में अभी कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड के अलावा रूस की स्‍पूतनिक वी वैकसीन को लगाया जा रहा है लेकिन अब भारत की ही पांच कंपनियां स्‍पूतनिक वी की डोजेज तैयार कर रही हैं. इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से एडवांस में भुगतान भी कर दिया गया है. सितंबर में ही इसकी डोज आना शुरू हो जाएगी. इसकी करीब पांच से सात करोड़ डोजेज प्रति महीने बनेंगी और भारत में ही सप्‍लाई होंगी.

मॉडरना और फाइजर नहीं शामिल

indore देश में अक्‍तूबर से रोजाना करीब एक करोड़ लोगों को रोजाना टीका लग सकेगा.

देश में अक्‍तूबर से रोजाना करीब एक करोड़ लोगों को रोजाना टीका लग सकेगा.

डॉ. अरोड़ा बताते हैं कि एक करोड़ डोज हर महीने के लिए वैक्‍सीन उपलब्‍ध कराने वालों में विदेशी वैक्‍सीन जैसे मॉडरना (Moderna) और फाइजर (Pfizer) शामिल नहीं हैं. ये वैक्‍सीन यहां मिलेंगी या नहीं या कितनी संख्‍या मिलेगी इसका कोई अनुमान अभी नहीं लगाया गया है. देश में एक करोड़ वैक्‍सीन की सप्‍लाई भारत निर्मित सिर्फ छह वैक्‍सीन ही कर देंगी. मॉडरना या फाइजर वैक्‍सीन अगर भारत में आती हैं तो इनकी डोज की संख्‍या अलग होगी.

ये भी पढ़ें- कोरोना की घर पर जांच, जानिए किन तीन किटों को आईसीएमआर ने दी है मंजूरी

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज