Corona Vaccine News: गाजियाबाद में वर्कप्‍लेस पर कोरोना वैक्‍सीन लगाने की योजना फुस्‍स, जानें क्‍या बोला स्‍वास्‍थ्‍य विभाग?

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की प्राथमिकता सेंटरों पर वैक्‍सीन लगाना

स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की प्राथमिकता सेंटरों पर वैक्‍सीन लगाना

COVID-19 News: स्‍वास्‍थ्‍य विभाग का कहना है कि पहले सरकारी और निजी वैक्‍सीनेशन सेंटर्स पर लोगों को टीका लगाना प्राथमिकता में है. इन केंद्रों पर भीड़ कमने के बाद ऑफिस में कोरोना वैक्‍सीन लगाने की योजना पर काम किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 12:13 PM IST
  • Share this:
गाजियाबाद. जिले में सोमवार से वर्कप्‍लेस (Workplace) पर कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) लगाने की शुरुआत नहीं हो सकी. ऑफिसों में वैक्‍सीन (Vaccine) लगवाने के लिए कर्मचारियों को इंतजार करना पड़ेगा. स्‍वा‍स्‍थ्‍य विभाग (Health Department) के अनुसार सरकारी और निजी कार्यालय में वैक्‍सीन लगाने की अभी तिथि निर्धारित नहीं की गई है. विभाग की पहली प्राथमिकता सरकारी और निजी वैक्‍सीन सेंटरों पर टीका लगाने की है. जब इन सेंटरों पर लोग कम संख्‍या में पहुंचने लगेंगे तो फिर वर्कप्‍लेस (Workplace) पर वैक्‍सीनेशन का कार्यक्रम चलाया जाएगा.

सरकार के आदेश के अनुसार, ऐसे सरकारी और निजी कार्यालयों में ही वैक्‍सीन लगाई जानी है, जहां 45 से अधिक उम्र वाले कर्मचारियों की संख्‍या 100 या इससे अधिक है. यानी वैक्‍सीन लगवाने के लिए लोगों को किसी भी सेंटर पर जाने की जरूरत नहीं होगी. इससे अधिक से अधिक संख्‍या में लोग वैक्‍सीन लगवा सकेंगे. हालांकि, यह सुविधा अभी गाजियाबाद जिले में नहीं शुरू हो पाएगी. मौजूदा समय जिले में 64 सरकारी सेंटरों और 36 निजी सेंटरों पर वैक्‍सीनेशन का कार्यक्रम चल रहा है. पिछले दिनों वैक्‍सीन सेंटर पर लोगों की भीड़ बढ़ गई और बाद में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने निजी सेंटरों पर वैक्‍सीन की सप्‍लाई रोक दी थी. हालांकि, दोबारा से सरकारी और निजी सेंटरों पर वैक्‍सीनेशन शुरू हो चुका है.

जिले के सीएमओ डॉक्‍टर एनके गुप्‍ता बताते हैं कि अगले तीन दिनों में 60 हजार वैक्‍सीन लगाने का लक्ष्‍य रखा गया है. यानी रोजाना 20 हजार वैक्‍सीन लगाई जानी है. टीका उत्‍सव के लिए कुल 80 हजार वैक्‍सीन की डोज की सप्‍लाई हो चुकी है. रविवार को टीका उत्‍सव शुरू हो चुका है. स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के अनुसार वैक्‍सीन सेंटर पर पहुंचने वाले लोगों को वैक्‍सीन लगाना प्राथमिकता है. इसके बाद वर्कप्‍लेस पर वैक्‍सीन लगाने का कार्यक्रम शुरू होगा.

ऐसे ऑफिस जहां कम से कम 100 ऐसे कर्मचारी होंगे जो वैक्सीन लगवाने के पात्र और इच्छुक होंगे, वैक्सीन वहीं लगेगी. इसके साथ ही ऐसे हर ऑफिस के आसपास सरकारी या निजी टीकाकरण केंद्र भी होना चाहिए, ताकि किसी आपातकालीन स्थिति में वहां से मदद ली जा सके. ऑफिस के टीकाकरण केंद्रों को इन सरकारी या निजी टीकाकरण केंद्र के साथ लिंक किया जाएगा. सरकारी ऑफिस को सरकारी टीकाकरण केंद्र और प्राइवेट ऑफिस को प्राइवेट टीकाकरण केंद्र के साथ लिंक किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज