Delhi Unlock 4: नहीं मिलेगा टोकन, एंट्री गेट पर होगी थर्मल स्क्रीनिंग, दिल्ली मेट्रो में सफर के लिए नियम जारी
Delhi-Ncr News in Hindi

Delhi Unlock 4: नहीं मिलेगा टोकन, एंट्री गेट पर होगी थर्मल स्क्रीनिंग, दिल्ली मेट्रो में सफर के लिए नियम जारी
केंद्र सरकार ने अनलॉक-4 में मेट्रो सेवाएं भी शुरू करने के निर्दश दिए हैं. (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के खतरे के बीच केंद्र सरकार ने अनलॉक-4 (Unlock-4) की गाइडलाइन जारी हो गई है. इसके तहत ही दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) को शर्तों के साथ संचालन की अनुमति दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2020, 7:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण के खतरे के बीच केन्द्र सरकार ने अनलॉक-4 (Unlock-4) की गाइडलाइन जारी कर दिया गया है. इसके तहत दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) को संचालन की अनुमति दे दी गई है, वहीं अब इसको लेकर दिशानिर्देश जारी कर दिए गए हैं. नए नियमों के मुताबिक, दिल्ली मेट्रो में सफर के लिए अब टोकन नहीं मिलेगा. सभी यात्रियों को सफर के लिए मेट्रो कार्ड बनवाना होगा. इतना ही नहीं सभी स्टेशनों पर मेट्रो रेल नहीं रुकेगी. मेट्रो कोच में यात्रियों की संख्या तय की जाएगी. मेट्रो स्टेशन के बाहर थर्मल स्क्रीनिंग और सेनेटाइजर व्यवस्था होगी. मेट्रो स्टेशन्स पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए मार्किंग भी की जाएगी, ताकि कतार में खड़े लोगों के बीच एक नियत दूरी बनी रहे.

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि मुझे बहुत खुशी है मेट्रो दोबारा शुरू हो रही है. एक लंबे अंतराल के बाद हम लगातार पिछले कुछ महीनों से अपील की है मेट्रो शुरू करने के लिए ताकि लोग मेट्रो सेवा इस्तेमाल कर सकें. डीटेल्स एसओपी हमारी तैयार हैं कि कैसे लोग बाग मेट्रो का सफर बढ़िया तरीके से कर सकें बिना को रोना फैलाते हुए, हमारे लिए चुनौती है. इसे हम अच्छे से लागू करेंगे. फिर चाहे सभी स्टेशंस पर थर्मल स्क्रीनिंग की बात करें किसी यात्री का अगर टेंपरेचर ज्यादा है तो उसको अंदर जाने की अनुमति नहीं होगी बाहर सैनिटाइजर की व्यवस्था होगी ताकि लोग अपना हाथ साफ कर सकें.





टोकन से वायरस फैलने का खतरा
मंत्री ने कहा कि टोकन इस्तेमाल नहीं होगा क्योंकि उससे वायरस फैलने का ज्यादा खतरा है और उसे बार-बार सैनिटाइज करना भी मुमकिन नहीं है. मेट्रो कार्ड स्मार्ट कार्ड के जरिए लोग ट्रेवल कर पाएंगे. अंदर भी सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो की जाएगी. ट्रेन के कोच के अंदर भी अल्टरनेट सीट पर ही ट्रेवल कर पाएंगे. मेट्रो कोच के अंदर मार्किंग की जाएगी, वो संख्या बहुत जल्द हम सामने रखेंगे. ताकि लोगों को पता चल सके कि इस कोच में इतने लोग हो ट्रेवल कर सकेंगे. हमारे लिए ज़रूरी है लोगों की सेफ्टी. उसको देखते हुए सारे स्टेशन नहीं खोलेंगे. हो सकता है कुछ रूट पर मेट्रो सेवा ना रहे. इन सारी चीजों को एक दो दिन में डिसकस किया जाएगा.

इन स्टेशनों पर संचालन मुश्किल
मंत्री गहलोत ने कहा कि राजीव चौक जैसे स्टेशन को कंट्रोल करना चैलेंजिंग है. बस में आज 20 ट्रेवल कर रहे हैं. पहले 60-70 करते थे. समय के साथ हम भी सीख रहे हैं. मेट्रो का सफर भी किस तरीक़े से बेहतर हो सके कोशिश करेंगे. एक हफ्ते से कुछ मामले बढ़े हैं. सीएम केजरीवाल कहते आये हैं कोरोना रहने वाला है. इसके साथ कैसे रहना है वो सीखना है. इकॉनमी को भी ठीक करना है. कोरोना से बचते हुए कैसे लाइफ स्टाइल चेंज करना है. सभी को सावधानी बरतनी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज