कोरोना योद्धा: ये IPS अधिकारी कैंसर के ऑपरेशन के पहले तक करता रहा ड्यूटी !
Delhi-Ncr News in Hindi

कोरोना योद्धा: ये IPS अधिकारी कैंसर के ऑपरेशन के पहले तक करता रहा ड्यूटी !
फिलहाल ये अधिकारी 48 घंटों के लिए डॉक्टरों के निरीक्षण में हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में पदस्थापित एक युवा आईपीएस अधिकारी (IPS Officer) कैंसर से पीड़ित होने के बावजूद अपने काम में डटे रहे. ये अधिकारी दिल्ली पुलिस में बतौर एडिशनल डीसीपी पदस्थापित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2020, 2:41 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में पदस्थापित एक युवा आईपीएस अधिकारी (IPS Officer) कैंसर से पीड़ित होने के बावजूद अपने काम में डटे रहे. आनंद मिश्रा नाम के ये अधिकारी दिल्ली पुलिस में बतौर एडिशनल डीसीपी पदस्थापित हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार, जब डॉक्टरों ने उन्हें थायरॉयड ग्रंथि के कैंसर के बढ़ने की जानकारी दी तो वो हैरान रह गये. इसके बावजूद इस आईपीएस अधिकारी ने चुपचाप अपना काम जारी रखा. कोरोना योद्धा (Corona Warriors) के तौर पर उन्होंने उस इलाके में काम किया जहां बड़ी संख्या में प्रवासी मजदूर लॉकडाउन के कारण फंसे हुए थे.

हालांकि हाल ही में डॉक्टरों ने इन्हे चेक-अप के बाद सर्जरी की सलाह दी. क्योंकि उनकी ग्रंथियों में कैंसर बहुत तेजी से फैल रहा था. मिश्रा को ड्यूटी के ठीक बाद एक हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा और ऑपरेशन किया गया. फिलहाल, मिश्रा 48 घंटों के लिए डॉक्टरों के निरीक्षण में हैं.

अपनी टीम के साथ लगातार कर रहे थे काम
दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली के बाहरी इलाकों में चल रहे राहत कार्य में संबंधित अधिकारी सामने में रहकर काम कर रहे थे. एक अधिकारी के अनुसार, ' हर दिन अपने टीम के साथ वो यहां फंसे प्रवासी मजदूरों के खाना बांटने के काम की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे थे.'
गले में दर्द की थी शिकायत


उनके एक सहयोगी ने मीडिया को बताया कि 1 अप्रैल को मिश्रा ने अपने गले में दर्द की शिकायत की. जिसके बाद उन्होंने डॉक्टर से संपर्क किया. कोरोना सहित अन्य कई टेस्ट के बाद उनके कैंसर के चपेट में आने की जानकारी मिली. दिल्ली पुलिस के पीआरओ मंदीप सिंह रांधवा के अनुसार, उन्होंने अपने काम पर लगातार ध्यान दिया, हमे भी इसकी जानकारी काफी देर से हुई.

डॉक्टरों ने दी तत्काल सर्जरी की सलाह
जांच के बाद डॉक्टरों ने उन्हें तत्काल इसकी सर्जरी कराने की सलाह दी. उनके साथ काम करने वाले लोगों ने बताया कि इसके बावजूद वे हॉस्पिटल में भर्ती होने से पहले लगातार ड्यूटी करते रहे. सर्जरी के लिए उन्हें राजीव गांधी कैंसर संस्थान और रिसर्च सेंटर में भर्ती कराया गया.

हालत में हो रहा सुधार
उनके भाई जितेंद्र कुमार के अनुसार, सर्जरी के बाद उनकी हालत लगातार सुधर रही है. लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें अगले 48 घंटो के लिए लगातार निरीक्षण में रखा है. ये समय अवधि काफी नाजुक मानी जा रही है.

 

ये भी पढ़ें:

Delhi-NCR Weather: दिल्ली-NCR के कई इलाकों में आंधी के साथ तेज बारिश
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज