Assembly Banner 2021

कोरोनी की चौथी लहर से लड़ने के लिए दिल्ली ने की ये खास तैयारी, अब ज्यादा होंगे टेस्ट

दिल्ली में कोरोना का कहर

दिल्ली में कोरोना का कहर

Covid-19 Delhi: दिल्ली में कॉनटैक्ट ट्रेसिंग भी की जा रही है. इसके तहत किसी एक के कोरोना संक्रमनित पाए जाने पर 30 से 40 लोगों के सैंपल लेकर जांच किए जा रहे हैं.

  • Share this:
(रूपश्रीनंदा)

नई दिल्ली. रविवार को दिल्ली में कोरोना (Coronavirus) के 4 हज़ार से ज्यादा नए मरीज सामने आए. इस दौरान 21 लोगों की मौत हुई. ये 4 दिसंबर के बाद इस वायरस से मौत के सबसे ज्यादा मामले हैं. राजधानी दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट 4.64 फीसदी है. इस बीच दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि वैज्ञानिकों के मुताबिक इस बार की ये लहर ज्यादा खतरनाक नहीं है.

सत्येंद्र जैन ने कहा, 'वैज्ञानिकों के मुताबिक कोरोना वायरस की मौजूदा लहर बहुत तेजी से फैल रही है लेकिन ये कम गंभीर है और मौतों की संख्या भी कम है. सैंपल को जीनोम सिक्वेंसिग के लिए केंद्रीय प्रयोगशाला में भेजा गया है.'



जैन ने कहा कि दिल्ली में कोरोना से मृत्यु दर 1.64% है. फिलहाल ये आधे प्रतिशत से भी कम है. जैन ने कहा, 'हम केवल अनुमान लगा सकते हैं, मैं चाहता हूं कि हम इस सप्ताह से मामलों की संख्या में गिरावट की प्रवृत्ति देख सकते हैं.' उन्होंने ये भी कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए सरकार ने खास रणनीति बनाई है. इसके तहत अब एक दिन में 80-90 हज़ार लोगों के टेस्ट किए जाएंगे.
ये भी पढ़ें:- इमरान ने दी रेप से बचने के लिए पर्दा पहनने की सलाह, तो लोगों ने दिखाई ये VIDEO

दिल्ली में कॉनटैक्ट ट्रेसिंग भी किए जा रहे हैं. इसके तहत किसी एक के कोरोना संक्रमनित पाए जाने पर 30 से 40 लोगों के सैंपल लेकर जांच की जा रही है. ऐसे लोग जिनमें कोरोना के बहुत ज्यादा लक्षण दिख रहे हैं उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया जा रहा है.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ये भी कहा कि राजधानी दिल्ली में प्लाज्मा डोनर की संख्या में भारी कमी आई है. दरअसल हाल के दिनों में राजधानी में कोरोना के कम केस देखे गए थे. हालांकि सरकार की तरफ से लोगों को लगातार प्लाज्मा डोनेट करने की अपील की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज