लाइव टीवी

Coronavirus Lockdown: दिल्ली-नोएडा बार्डर सील, सैकड़ों लोग फंसे
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 23, 2020, 11:51 AM IST
Coronavirus Lockdown: दिल्ली-नोएडा बार्डर सील, सैकड़ों लोग फंसे
दिल्ली नोएडा बॉर्डर को पूरी तरह सील कर दिया गया है. केवल जरूरी सामान वाली गाड़ियों को जाने दिया जा रहा है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश की राजधानी दिल्‍ली (Delhi) में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. इसके कारण सैकड़ों की संख्या में लोग दिल्ली-नोएडा बार्डर (Delhi-Noida Border) पर फंस गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2020, 11:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश की राजधानी दिल्‍ली (Delhi) में लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. लॉकडाउन के कारण सैकड़ों की संख्या में लोग दिल्ली-नोएडा बार्डर (Delhi-Noida Border) पर फंस गए हैं. साथ ही दोनों शहरों में लॉकडाउन की वजह से दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई है. नोएडा दिल्ली दोनों लॉकडाउन है. दोनों तरफ की पुलिस ने बैरिकेड्स लगाए हैं. बॉर्डर पर मौजूद नोएडा के एडिशनल DCP रणविजय सिंह ने बताया कि सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही नोएडा में एंट्री दी जा रही है. बाकी लोगों को वापस कर दिया जा रहा है.

बॉर्डर पर ऐसे लोग भी फंसे हैं, जो अपने घरों को जा रहे हैं लेकिन जरूरी सेवाओं की श्रेणी में ना आने की वजह से उन्हें एंट्री नहीं मिल रही है. कई लोग नोएडा में रहते हैं लेकिन उन्हें नहीं जाने दिया जा रहा है. एक युवक ने बताया कि वह डेयरी के काम से जुड़ा है. सुबह-सुबह पिता को दिल्ली छोड़ने आया था.  अब वापस नोएडा नहीं जाने दे रहे हैं.

लॉकडाउन पहली बार हुआ है, लोग पहली बार देख रहे हैं: डीसीपी
दिल्ली पुलिस के डीसीपी संजय भाटिया ने बताया कि, देखिए लॉकडाउन पहली बार हुआ है. लोग पहली बार देख रहे हैं. एक जगह 5 लोगों से ज्यादा खड़े नहीं हो सकते. धारा 144 लागू है. अगर कोई इसको वायलेट करेगा तो उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि एक जरूरी निर्देश है कि कोरोना वायरस के मरीज को डॉक्टरों की सलाह माननी पड़ेगी. एक्स्पर्ट जो बोलेंगे, उसका पालन करना होगा. लोग अपनी जरूरत का सामान लेने के लिए घर से निकल सकेंगे, लेकिन भीड़ नहीं लगाएंगे. दूध, ड्रग, ग्रोसरी स्टोर, राशन की दुकानें और केमिस्ट शॉप खुली रहेंगी.






दिल्ली नोएडा बॉर्डर को पूरी तरह बंद कर दिया गया है. केवल जरूरी सामान वाली गाड़ियां- दवा, दूध, ब्रेड, डॉक्टर और पेशेंट की गाड़ी, कागज देखकर जाने दे रहे हैं, लेकिन बड़ी समस्या तमाशबीन लोग हैं, जो बड़ी संख्या में सड़क का नज़ारा लेने के लिए खड़े हैं. यह मामला वसुंधरा एंक्लेव का है.

चल रही हैं 25 फीसदी डीटीसी बसें
डीटीसी बस 25 फीसदी चल रही हैं, लेकिन इमरजेंसी सर्विस के लोगों के लिए चलाई जा रही हैं. सरकारी काम, कोई दूध का या इमरजेंसी काम करता है, वे जाएंगे. लोगों को वैसे घर पर ही रहना चाहिए, जिससे हम कोरोना वायरस को ब्रेक डाउन कर सके. बॉर्डर इलाके सील हैं. इसका यह मतलब नहीं है कि कोई आ-जा नहीं सकता. अपना कार्ड दिखाए, इमरजेंसी सर्विस के बारे में बताएं और आएं-जाएं, लेकिन जरूरी काम के लिए ही आएं-जाएं.

खुली हुई हैं मेडिकल शॉप
नोएडा में सभी मेडिकल शॉप खुली हुई हैं. इनका कहना है कि होम डिलीवरी के लिए भी बोला गया है ताकि लोगों को घर पर ही दवा मिल सके. साथ ही मेडिकल शॉप पर काम कर रहे लोगों के लिए भी यह हिदायत दी गई है कि एक समय पर 2 से 3 लोग ही काम करें.

ये भी पढ़ें -

Coronavirus: शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को बंद करने की मांग पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

कोरोना को लेकर झारखंड में भी लॉकडाउन, 31 मार्च तक सभी सरकारी दफ्तर बंद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 11:20 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर