लाइव टीवी

80 साल के बुजुर्ग ने Whatsapp पर लगाई गुहार, इलाके के SHO खुद पहुंच गए मदद के लिए
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: March 29, 2020, 5:36 PM IST
80 साल के बुजुर्ग ने Whatsapp पर लगाई गुहार, इलाके के SHO खुद पहुंच गए मदद के लिए
खाने-पीने से लेकर दवाई और रहने का प्रबंध भी दिल्ली पुलिस करा रही है.

दिल्ली के ग्रेटर कैलाश (Greater Kailash) इलाके में 80 साल के एक बुजुर्ग ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को बताया कि उसके पास न खाना है और न ही अन्य जरूरत का सामान, इस पर पुलिस ने खुद वहां पहुंच कर उनकी मदद की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 29, 2020, 5:36 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा पूरी दुनिया में लगातार बढ़ता ही जा रहा है. यही वजह है कि पीएम मोदी (PM Modi) ने भारत में भी 21 दिनों के लिए लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की है. कोरोना वारयस से पैदा हुए इस संकट में हर वर्ग के लोग आगे आ रहे हैं. देश का हर नागरिक एक-दूसरे को मदद पहुंचाने की कोशिश में लगा है. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) भी लॉकडाउन के बीच दिल्ली के हर उस शख्स को मदद पहुंचा रही है, जिसे सही मायनों में मदद की जरूरत है. खाने-पीने से लेकर दवाई और रहने का प्रबंध भी दिल्ली पुलिस करा रही है. ऐसे ही एक मदद रविवार को दिल्ली पुलिस ने दक्षिण दिल्ली के ग्रेटर कैलाश इलाके में की है. ग्रेटर कैलाश इलाके में 80 साल के एक बुजुर्ग ने दिल्ली पुलिस को वाट्सएप के जरिए बताया कि उनके पास न खाना है न मदद करने वाला कोई है. इसके बाद इलाके के एसएचओ खुद उनके घर पहुंच कर उस बुजुर्ग आदमी की मदद की.

बुजुर्ग को पहुंचाई मदद
ग्रेटर कैलाश थाने का एसएचओ उस बुजुर्ग आदमी के घर पहुंच कर उनसे बातचीत की और उन्हें आश्वस्त किया कि दिल्ली पुलिस हर नागरिक के साथ है और उनकी जरूरत के मुताबिक मदद पहुंचाई जाएगी. उस बुजुर्ग ने दिल्ली पुलिस को शुक्रिया अदा किया.

बता दें कि लॉकडाउन की स्थिति में दिल्ली पुलिस लोगों की सेवा में लगातार लगी हुई है. पिछले दिनों ही दिल्ली के सब्जी मंडी इलाके में भी दिल्ली पुलिस एक परिवार के लिए 'देवदूत' बन कर आई थी. 27 मार्च की सुबह आरती नाम की एक गर्भवती महिला को उसके परिजन ने बड़ी मशक्कत से हिंदूराव अस्पताल में भर्ती किया. शनिवार सुबह महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया. शनिवार को महिला को अस्पताल से छुट्टी मिल गई. लेकिन, जब आरती अपनी नवजात बच्ची और पति के साथ अस्पताल के बाहर आई तो उसे घर जाने के लिए कोई सवारी नही मिली. दंपति घंटों अपनी नवजात बच्ची के साथ बाहर ही खड़ी रही. जब महिला के परिजन ने दिल्ली पुलिस को यह जानकारी दी तो पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे और महिला को उसके घर तक पहुंचाया.



ये भी पढ़ें:



लॉकडाउन में इंदिरापुरम के 5 लड़कों ने उठाया गाजियाबाद के 45 जरूरतमंद घरों की जिम्मेदारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 5:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading