UNLOCK 4.0: नोएडा से दिल्‍ली जाने वालों के लिए पास सिस्‍टम को लेकर बड़ी खबर, जानें क्‍या होने वाला है बदलाव
Greater-Noida News in Hindi

UNLOCK 4.0: नोएडा से दिल्‍ली जाने वालों के लिए पास सिस्‍टम को लेकर बड़ी खबर, जानें क्‍या होने वाला है बदलाव
अनलॉक 4.0 में कई तरह की रियायतें देने की तैयारी है. (न्‍यूज 18 इस्‍ट्रेशन)

UNLOCK 4.0: कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए लॉकडाउन लागू किया गया था. इस दौरान कई शहरों में आवाजाही को नियंत्रित करने के लिए कदम उठाए गए थे. अनलॉक 4.0 में अब नोएडा और गाजियाबाद से दिल्‍ली जाने वालों को राहत देने की तैयारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 7:07 AM IST
  • Share this:
नोएडा. कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू किया गया था. ऐसे में एक से दूसरे शहर में जाने के लिए भी काफी मशक्‍कत करनी पड़ रही है. अनलॉक की प्रक्रिया को चरणबद्ध तरीके से लागू करने के बाद भी दिल्‍ली-NCR में निर्बाध तरीके से आना-जाना आसान नहीं है. खासकर नोएडा-गाजियाबाद से दिल्‍ली आने या जाने के लिए पास की जरूरत होती है. अब अनलॉक के चौथे चरण (UNLOCK 4.0) में इससे मुक्ति मिल सकती है. स्‍थानीय प्रशासन आवाजाही के लिए पास सिस्‍टम को समाप्‍त करने की तैयारी कर रहा है. ऐसा होने पर आमलोगों और नौकरीपेशा के लिए बेहद आसानी होने की उम्‍मीद है. ऐसे लोगों को सिर्फ आरोग्‍य सेतु एप्‍प पर ग्रीन स्‍टेटस दिखाना होगा.

स्‍थानीय प्रशासन यह कदम उत्‍तर प्रदेश सरकार के उस आदेश के बाद उठाने जा रहा है, जिसमें लोगों  और माल ढुलाई की आवाजाही पर सभी प्रतिबंधों को खत्‍म करने की बात कही गई है. हालांकि, अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि वीकेंड के दौरान लोगों के आने-जाने पर पूर्व की तरह प्रतिबंध रहेगा या नहीं. यूपी सरकार के इस फैसले से दिल्‍ली और एनसीआर के दूसरे शहरों में रहने वाले हजारों लोगों को राहत मिल सकती है. बता दें कि अनलॉक का चौथा फेज 1 सितंबर से लागू होने जा रहा है. इस चरण में लोगों को अन्‍य कई तरह की रियायतें देने की तैयारी है.

आरोग्‍य सेतु पर ग्रीन स्‍टेटस दिखाना होगा
गाजियाबाद और नोएडा से दिल्‍ली जाने वाले लोगों को पास और परमिट से मुक्ति तो दे दी जाएगी, लेकिन इसके बदले नई व्‍यवस्‍था अमल में लाने की तैयारी है. ऐसे लोगों को मोबाइल फोन पर इंस्‍टॉल आरोग्‍य सेतु एप्‍प पर ग्रीन स्‍टेटस दिखाना होगा. ऐसा करने के बाद ही उन्‍हें आवाजाही की अनुमति मिल सकेगी. इस दौरान सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना भी अनिवार्य होगा. दूसरी तरफ, ट्रैवल परमिट सिस्‍टम भी समाप्‍त कर दिया जाएगा. इससे माल ढुलाई करने वाले वाहनों को काफी आसानी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज