अपना शहर चुनें

States

COVID-19 Vaccination: टीकाकरण अभियान में पिछड़े दिल्‍ली के सरकारी अस्‍पताल, प्राइवेट हॉस्पिटल अव्‍वल

Coronavirus Vaccination in Delhi: दिल्‍ली में कोरोना टीकाकरण में सरकारी अस्‍पताल का प्रदर्शन अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
Coronavirus Vaccination in Delhi: दिल्‍ली में कोरोना टीकाकरण में सरकारी अस्‍पताल का प्रदर्शन अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Coronavirus Vaccination in Delhi: देश की राजधानी दिल्‍ली में पिछले 3 दिनों से कोरोना वैक्‍सीनेशन का अभियान चल रहा है. प्राइवेट हॉस्पिटल का प्रदर्शन जहां शत प्रतिशत रहा है, वहीं सरकारी अस्‍पताल पिछड़ते नजर आ रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 7:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश की राजधानी दिल्‍ली के साथ ही देश के तमाम प्रदेशों में कोरोना वैक्‍सीनेशन का काम चल रहा है. इस बीच, दिल्‍ली से चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया है. कोरोना का टीका लगाने में राष्‍ट्रीय राजधानी के अस्‍पतालों का प्रदर्शन अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा है. वहीं, प्राइवेट हॉस्पिटल्‍स लगातार शत प्रतिशत परिणाम दे रहे हैं. दिल्‍ली में पिछले तीन दिनों से कोरोना वैक्‍सीनेशन का काम चल रहा है. सरकारी क्षेत्र के अस्‍पतालों की यह स्थिति तब है, जब सरकारी अस्पतालों के डायरेक्‍टर और मेडिकल सुपरिंटेंडेंट सबसे पहले टीका लगवा चुके हैं. बता दें कि दिल्‍ली में सरकारी अस्‍पतालों के कामकाज की अक्‍सर ही चर्चा होती रहती है.

बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कोरोना वैक्‍सीनेशन  शुरू होने से पहले कहा था कि टीका आने के बाद चार से पांच दिन में दिल्ली सबसे पहले कवर कर लेगी, लेकिन अभी तक की स्थिति देखें तो तीन दिन में तीन से चार फीसदी लोग ही कवर हो पाए हैं. 16 जनवरी को दिल्ली सहित पूरे देश में टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हुआ था. दिल्‍ली में तीन दिनों से टीकाकरण का अभियान चलाया जा रहा है. इसमें सरकारी के साथ ही निजी अस्‍पताल भी शामिल हैं.





मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बीते सोमवार और मंगलवार को मिलाकर तीन दिन में दिल्ली में करीब 10 हजार स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लग पाया है, जबकि 81 केंद्रों पर अधिकतम 8100 लोगों को एक दिन में टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था. दिल्ली एम्स, सफदरजंग, आरएमएल, लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के साथ साथ दिल्ली सरकार के लोकनायक अस्पताल, जीटीबी, राजीव गांधी, डीडीयू और भीमराव आंबेडकर अस्पताल रोहिणी तक में एक भी दिन 100 कर्मचारियों को टीका नहीं लग सका है. वहीं, प्राइवेट अस्पतालों की बात करें तो 16 जनवरी को पहले दिन साकेत स्थित मैक्स और पीएसआरआई अस्पताल में 100-100 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाया गया. मंगलवार को द्वारका स्थित आकाश अस्पताल में एक दिन में 100 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज