Home /News /delhi-ncr /

टीका न लगाने वालों के लिए फिर काल बना कोरोना, COVID-19 वैक्‍सीन को लेकर सरकार का बड़ा खुलासा

टीका न लगाने वालों के लिए फिर काल बना कोरोना, COVID-19 वैक्‍सीन को लेकर सरकार का बड़ा खुलासा

कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बड़ा हथियार साबित हुआ है, ये खुलासा करते हुए सरकार ने कहा है कि दिल्ली में 60 फीसदी मौतें उनकी हुईं, जिन्होंने टीके नहीं लगवाए थे.  (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

कोरोना के खिलाफ वैक्सीन बड़ा हथियार साबित हुआ है, ये खुलासा करते हुए सरकार ने कहा है कि दिल्ली में 60 फीसदी मौतें उनकी हुईं, जिन्होंने टीके नहीं लगवाए थे. (प्रतीकात्मक तस्वीर: shutterstock)

Delhi Covid19 death Cases: भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव (Dr. Balram Bhargav) ने टीकाकरण को कोविड-19 के विरूद्ध सबसे महत्वपूर्ण हथियारों में से एक बताया. उन्होंने कहा कि बिना टीका वालों की तुलना में टीके मौत (का जोखिम) कम करने की क्षमता दर्शाते हैं, क्योंकि यह बिना टीका वाले लोगों की तुलना में टीका लगवा चुके लोगों में मृत्यु का खतरा काफी घटा देते हैं.

अधिक पढ़ें ...
  • News18.com
  • Last Updated :

नयी दिल्ली. टीकाकरण (Corona Vaccination) को कोरोना वायरस (Coronavirus) के विरूद्ध सबसे महत्वपूर्ण हथियारों में से एक करार देते हुए सरकार ने कहा है कि दिल्ली में कोविड (Delhi Covid19) की वजह से करीब 64 फीसद मौतें ऐसे लोगों के बीच देखी गयीं, जिन्होंने टीका नहीं लिया था और अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त थे.

राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (NCDC) के निदेशक डॉ. एस के सिंह (Dr. SK Singh) ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बिना टीका वाले एवं अन्य गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोग उच्च जोखिम समूह में आते हैं. उन्होंने कहा, “आज के दिल्ली के आंकड़े पर भी देखा जाए तो हमारे सामने जितनी मौतें हुई हैं, उनमें 64 फीसद उन लोगों के बीच हुई जिन्होंने टीका नहीं लगवाया है और जिन्हें अन्य गंभीर बीमारियां हैं. इसलिए जिन लोगों ने टीका नहीं करवाया और जिन्हें अन्य गंभीर बीमारियां हैं, वे ही उच्च जोखिम समूह में आते हैं. ’’

वैक्सीन ने मौत के खतरे को कम किया

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव (Dr. Balram Bhargav) ने टीकाकरण को कोविड-19 के विरूद्ध सबसे महत्वपूर्ण हथियारों में से एक बताया. उन्होंने कहा, “बिना टीका वालों की तुलना में टीके मौत (का जोखिम) कम करने की क्षमता दर्शाते हैं, क्योंकि यह बिना टीका वाले लोगों की तुलना में टीका लगवा चुके लोगों में मृत्यु का खतरा काफी घटा देते हैं.”

वैक्सीनेशन सबसे महत्वपूर्ण हथियार: ICMR

बलगम भार्गव ने उन राज्यों से टीकाकरण की रफ्तार बढ़ाने की अपील की जहां टीकाकरण की दर कम है. उन्होंने कहा, “हम देश में 95 प्रतिशत पहली खुराक तक और वयस्कों के बीच 74 फीसद पूर्ण टीकाकरण तक पहुंच गये हैं, लेकिन अब भी कुछ राज्य हैं जहां टीकाकरण निम्न है. इसलिए मैं उन राज्यों से टीकाकरण एवं उसकी रफ्तार बढ़ाने की अपील करना चाहूंगा, क्योंकि यह यह उन सबसे महत्वपूर्ण हथियारों में से एक है, जो हमारे पास कोविड-19 के विरूद्ध बचाव के तौर पर उपलब्ध हैं.”

उन्होंने कहा कि देश में पर्याप्त टीके उपलब्ध हैं, इसलिए उसे हर तरीके से बढ़ावा दिया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि जिन लोगों को अन्य गंभीर बीमारियों हैं, उन्हें भीड़ से जरूर ही बचना चाहिए एवं सुनिश्चित करना चाहिए कि उन्हें संक्रमण न हो. उन्होंने कहा, “क्योंकि नतीजा अन्य रूगण्ता वालों में अच्छा नहीं है.”

साढ़े तीन लाख केस में केवल 435 मौतें हुईं

स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि टीकाकरण से देश में मामले कम करने, अस्पतालों में भर्ती कम करने, मामलों की गंभीरता घटाने में मदद मिली. उन्होंने एक तुलना पेश करते हुए कहा कि भारत में दूसरी लहर के चरम के दौरान सात मई, 2021 को 4,14,188 नये मामले सामने आये थे. (तब बस तीन फीसद को टीका लगा था) और 3679 मौतें हुई थीं, जबकि 21 जनवरी, 2022 को कुल 3,47,254 मामले सामने आये और 435 मौतें हुईं.

(भाषा से इनपुट के साथ)

Tags: Corona death case in Delhi, Delhi Covid 19 cases spike, ICMR

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर