होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

अदालत ने हेरोइन के साथ पकड़े आरोपी को किया बरी, दिल्ली पुलिस पर की बड़ी टिप्पणी

अदालत ने हेरोइन के साथ पकड़े आरोपी को किया बरी, दिल्ली पुलिस पर की बड़ी टिप्पणी

दिल्ली की एक अदालत ने एक व्यक्ति को हेरोइन और अवैध शराब रखने के आरोप से बरी कर दिया. (सांकेतिक तस्वीर)

दिल्ली की एक अदालत ने एक व्यक्ति को हेरोइन और अवैध शराब रखने के आरोप से बरी कर दिया. (सांकेतिक तस्वीर)

New delhi news: दिल्ली की एक अदालत ने एक व्यक्ति को हेरोइन और अवैध शराब रखने के आरोप से बरी कर दिया. अदालत ने कहा कि अभियोजन पक्ष के गवाहों की गवाही में बहुत अधिक विरोधाभास है. इस मामले में जांच को लेकर अदालत ने दिल्ली पुलिस पर टिप्पणी की है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

अदालत ने कहा- अभियोजन पक्ष के गवाहों की गवाही में बहुत अधिक विरोधाभास है
बिंदापुर थाने में वर्ष 2016 में आरोपी के खिलाफ दर्ज हुआ था केस

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस जहां ड्रग तस्करों के खिलाफ लगातार कार्रवाई का दावा करती है तो वहीं एक मामले में दिल्ली पुलिस को झटका लगा है. दिल्ली की एक अदालत ने एक व्यक्ति को हेरोइन और अवैध शराब रखने के आरोप से बरी कर दिया. अदालत ने कहा कि अभियोजन पक्ष के गवाहों की गवाही में बहुत अधिक विरोधाभास है.

इस मामले में विशेष न्यायाधीश दीपक वासन ने आरोपी को संदेह का लाभ देते हुए आठ अगस्त को संबंधित आदेश पारित किया. उन्होंने अपने आदेश में लिखा कि पुलिस ने जांच के दौरान तय प्रक्रिया के प्रति जानबूझकर असम्मान दिखाया. अदालत ने रेखांकित किया कि जांच एजेंसी अन्वेषण के किसी दौर में एक भी गवाह से संपर्क नहीं कर सकी और इसके बजाय लापरवाह तरीके से और नियमित जवाब के तौर पर कहा कि जिन लोगों से जांच में शामिल होने के लिए कहा गया. उन्होंने इससे मना दिया, जबकि ऐसे किसी भी व्यक्ति और उनके पते आदि का खुलासा नहीं किया गया है.

बिंदापुर थाने में वर्ष 2016 में आरोपी के खिलाफ दर्ज हुआ था केस
गौरतलब है कि बिंदापुर थाने में वर्ष 2016 में आरोपी के खिलाफ दिल्ली आबकारी अधिनियम और एनडीपीएस अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी. इस मामले में पुलिस ने दावा किया था कि आरोपी के पास से अवैध शराब के 96 पव्वे और करीब नौ ग्राम हेरोइन बरामद की गई थी.

गवाहों के विरोधाभास से मिला आरोपी को लाभ
इस मामले में अदालत ने फैसला सुनाते हुए आरोपी को बरी कर दिया. अदालत ने अभियोजन पक्ष के गवाहों की गवाही में बहुत अधिक विरोधाभास बताया, जिसके चलते आरोपी को लाभ मिल गया.

Tags: Delhi Court, Delhi police, New Delhi news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर